क्या आपको भी हनुमान चालीसा का नहीं मिल रहा है लाभ, जानिए क्या है कारण

हम सभी जानते हैं कि हनुमान जी प्रत्यक्ष देवता है, तुरंत प्रसन्न होते हैं लेकिन उनकी निरंतर आराधना के बाद भी आपको लाभ नहीं मिल रहा है तो अवश्य ही आप कोई बड़ी गलती कर रहे हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों नहीं मिलता कुछ लोगों को हनुमान चालीसा का लाभ...
 
हम आपको बता रहे हैं कि आप हनुमान चालीसा का पाठ किस प्रकार करें और क्या उपाय अपनाएं जिससे भगवान खुश हो और आपकी मनोकामनाएं पूर्ण हो... चलिए जानते हैं...
 
हनुमान चालीसा के पाठ की शुरुआत आप मंगलवार या शनिवार से कर सकते हैं। आप 40 दिनों का अनुसरण कीजिए। उसके बाद अगले 11 शनिवार और अगले 11 मंगलवार तक आपको एक दिन के अंदर 21 पाठ करने होंगे। स्मरण रहे कि पाठ केवल सुबह-सुबह 4 बजे शुरू करना होगा।

 
जो तरीका आपको बताया गया है अगर इसी प्रकार से आप नियमानुसार हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे तो आपकी मनोकामना पूर्ण होगी और इच्छानुसार फल आपको प्राप्त होगा... इस विधि के द्वारा पाठ करके प्रसाद को गाय और बंदर को देना चाहिए।
 
उसके बाद सभी भक्तों में बांट दीजिए। जब चालीसा पूर्ण हो जाए तो हवन भी कराएं। हर चौपाई के बाद एक आहुति दीजिए। जब हवन हो जाए तो गरीबों में बूंदी चूरमा बांट दीजिए।

 
इस प्रकार आपने जो अनुष्ठान किया है वो पूरा हो जाएगा। अब हनुमान चालीसा सिद्ध हो गया है। जब भी कभी आप संकट में घिरें तो इसे पढ़ें यह तुरंत चमत्कारी असर दिखाएगा।

ALSO READ: जब उज्जैन में प्रकट हुए हनुमान और महाकाल हुए विराजमान, पढ़ें पौराणिक कथा

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING