दक्षिण दिशा में पैर करके सोने के 10 नुकसान

दक्षिण में पैर करके क्यों नहीं सोना चाहिए...

webdunia

शारीरिक ऊर्जा का क्षरण :

दक्षिण दिशा में दक्षिणी ध्रुव है और हमारे शरीर की ऊर्जा पैर की ओर से बहती है।

webdunia

शवों के पैर रखते हैं इस ओर :

इस दिशा में पैर करके शवों को इसलिए रखते हैं ताकी संपूर्ण ऊर्जा बाहर निकल जाए।

webdunia

निराशा-आलस्य :

शारीरिक ऊर्जा का क्षय होने से जब व्यक्ति सुबह उठता है तो थकान महसूस करता है।

webdunia

अनिद्रा :

दक्षिण दिशा की ओर ऋणात्मक प्रवाह रहता है। यदि उधर पैर रखकर सोएंगे तो अनिद्रा की समस्या होगी...

webdunia

नकारात्मक विचार:

दक्षिण में पैर रखकर सोने से निराशा, भय, आशंका, आलस्य, बुरे स्वप्न का विकास होता है।

webdunia

स्मृति भ्रम :

दक्षिण दिशा में पैर करके सोने से हानि, स्मृति भ्रम, मृत्यु और रोग का भय रहता है।

webdunia

मंगल की दिशा :

दक्षिण दिशा में मंगल ग्रह है। इस दिशा में पैर करके सोने से भी मंगल दोष उत्पन्न होता है।

webdunia

रक्त संचार पर पड़ता है असर :

दक्षिण दिशा में पैर करके सोने से मस्तिष्क में रक्त का संचार कम को जाता है।

webdunia

शारीरिक रोग :

दक्षिण में पैर करके सोने से अपच सहित कई गंभीर शारीरिक रोग का क्रमिक विकास होने लगता है।

webdunia

यम की दिशा :

दक्षिण में यम, यमदूतों और दुष्टों का निवास होता है।

webdunia

5 लोगों को नहीं रखना चाहिए श्रावण सोमवार का व्रत

Follow Us on :-