कर्ज देना हो या कर्ज लेना हो, इन 17 बातों का अवश्य रखें ध्यान, वरना होंगे परेशान

कर्ज लेना किसी को अच्छा नहीं लगता लेकिन मजबूरी के चलते कई बार ऐसी स्थिति बन जाती है कि कर्ज लेना पड़ता है। आइए कुछ उपयोगी बातें जानें जब कर्ज लेना या देना हो.... या सिर पर चढ़ा कर्ज उतारना हो... 
 
1. चर लग्न मेष, कर्क, तुला व मकर में कर्ज लेने पर शीघ्र उतर जाता है। लेकिन, चर लग्न में कर्जा दें नहीं। चर लग्न में पांचवें व नवें स्थान में शुभ ग्रह व आठवें स्थान में कोई भी ग्रह नहीं हो, वरना ऋण पर ऋण चढ़ता चला जाएगा।
 
2. किसी भी महीने की कृष्णपक्ष की 1 तिथि, शुक्लपक्ष की 2, 3, 4, 6, 7, 8, 10, 11, 12, 13 पूर्णिमा व मंगलवार के दिन उधार दें और बुधवार को कर्ज लें।
 
3. हस्त नक्षत्र रविवार की संक्रांति के वृद्धि योग में कर्जा उतारने से मुक्ति मिलती है।
 
4. कर्ज मुक्ति के लिए ऋणमोचन मंगल स्तोत्र का पाठ करें एवं लिए हुए कर्ज की प्रथम किश्त मंगलवार से देना शुरू करें। इससे कर्ज शीघ्र उतर जाता है।
 
5.कर्ज लेने जाते समय घर से निकलते वक्त जो स्वर चल रहा हो, उस समय वही पांव बाहर निकालें तो कार्य सिद्धि होती है, परंतु कर्ज देते समय सूर्य स्वर को शुभकारी माना है।
 
6. लाल मसूर की दाल का दान दें।
 
7. वास्तु अनुसार ईशान कोण को स्वच्छ व साफ रखें।
 
8. वास्तुदोष नाशक हरे रंग के गणपति मुख्य द्वार पर आगे-पीछे लगाएं।
 
9. हनुमानजी के चरणों में मंगलवार व शनिवार के दिन तेल-सिंदूर चढ़ाएं और माथे पर सिंदूर का तिलक लगाएं। हनुमान चालीसा या बजरंगबाण का पाठ करें।
 
10. ऋणहर्ता गणेश स्तोत्र का शुक्लपक्ष के बुधवार से नित्य पाठ करें।
 
11. बुधवार को सवा पाव मूंग उबालकर घी-शक्कर मिलाकर गाय को खिलाने से शीघ्र कर्ज से मुक्ति मिलती है। 
 
12. सरसों का तेल मिट्टी के दीये में भरकर, फिर मिट्टी के दीये का ढक्कन लगाकर किसी नदी या तालाब के किनारे शनिवार के दिन सूर्यास्त के समय जमीन में गाड़ देने से कर्ज मुक्त हो सकते हैं।
 
13. सिद्ध-कुंजिका-स्तोत्र का नित्य एकादश पाठ करें।
 
14. घर की चौखट पर अभिमंत्रित काले घोड़े की नाल शनिवार के दिन लगाएं। क र्ज कभी लेना ही नहीं पड़ेगा और अगर होगा तो शीघ्र उतर जाएगा। 
 
15. श्मशान के कुएं का जल लाकर किसी पीपल के वृक्ष पर चढ़ाना चाहिए। यह कार्य नियमित रुप से 7 शनिवार को किया जाना चाहिए।
 
16. 5 गुलाब के फूल, 1 चांदी का पत्ता, थोडे से चावल, गुड़ लें। किसी सफेद कपड़े में 21 बार गायत्री मंत्र का जप करते हुए बांध कर जल में प्रवाहित कर दें। ऐसा 7 सोमवार को करें।
 
17.ताम्रपत्र पर कर्जनाशक मंगल यंत्र (भौम यंत्र) अभिमंत्रित करके पूजा करें या सवा चार रत्ती का मूंगायुक्त कर्ज मुक्ति मंगल यंत्र अभिमंत्रित करके गले में धारण करें।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख महाशिवरात्रि विशेष : त्रिशूल, तिलक और त्रिनेत्र...क्या है 3 का रहस्य?