आरती : हरि ॐ श्री शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो

शाकंभरी माता की आरती
 
हरि ॐ श्री शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
ऐसी अद्भुत रूप हृदय धर लीजो
शताक्षी दयालु की आरती कीजो
तुम परिपूर्ण आदि भवानी मां, सब घट तुम आप बखानी मां
शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
 
तुम्हीं हो शाकुम्भर, तुम ही हो सताक्षी मां
शिवमूर्ति माया प्रकाशी मां,
शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
 
नित जो नर-नारी अम्बे आरती गावे मां
इच्छा पूर्ण कीजो, शाकुम्भर दर्शन पावे मां
शाकुम्भरी अम्बाजी की आरती कीजो
 
जो नर आरती पढ़े पढ़ावे मां, जो नर आरती सुनावे मां
बस बैकुंठ शाकुम्भर दर्शन पावे
शाकुम्भरी अंबाजी की आरती कीजो। 

ALSO READ: शाकंभरी नवरात्रि में पढ़ें यह पावन चालीसा, हर मुश्किल होगी आसान

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Astrology 2020 : नए साल में केतु का राशि परिवर्तन किन राशियों के लिए है शुभ, किनके लिए अशुभ