कुंभ राशि और वर्ष 2013

कुंभ राशि और वर्ष 2013 का भविष्यफल

FILE

कुंभ- इस राशि व लग्न वालों का स्वामी शनि है। यह स्थिर स्वभाव और उत्तम कदकाठी के होते हैं। परिस्थितिवश इनके कार्यों में देरी संभव है। शनि की उच्च या स्वराशि पर होने से सफलता की सीढ़‍ियां शीघ्र चढ़ते हैं। यदि शनि नीच का या मंगल के साथ हो तो जीवन में अनेक बाधाओं का सामना भी करना पड़ सकता है।

शुभ रत्न- फिरोजा या सफायर, शुभ रंग- हल्के नीले।

सेहत- स्वास्थ्य के मामलों में यह वर्ष बहुत कुछ उत्तम कहा जा सकता है। खानपान के मामलों में सतर्कता आपके लिए लाभदायक रहेगी।

दांपत्य जीवन- पारिवारिक मामलों में समय बेहतर रहेगा। घर परिवार के मामलों में दखलअंदाजी से बचें। वर्ष मध्य तक सुधार पाएंगे। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

व्यवसाय- व्यासाय के मामलों में यह वर्ष उत्तम कहा जा सकता है। व्यापार में नवीन कार्ययोजना बन सकती है जो लाभकारी रहेगी। किसी बड़े का सहयोग लेकर चलें।

नौकरीपेशा- नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए यह वर्ष लाभदायक रहेगा। उन्नति के योग भी प्रबल हैं। बेरोजगार प्रयास करें तो रोजगार पाने में सफल होंगे।

आर्थिक स्थिति- धन संबंधित समस्याओं का समाधान होकर लाभदायक समय रहेगा। अकस्मात धन लाभ के योग भी बनेंगे। रूका पैसा मिलने की संभावना अधिक है।

शत्रु पक्ष- शत्रु पक्ष की समस्या से राहत महसूस करेंगे। पुराना मामला कोर्ट से संबंधित चल रहा होगा उसका भी फैसला आ सकता है।

नए साल में कुंभ राशि के सितार


नए साल में कुंभ राशि के सितार

जनवरी- आर्थिक प्रयासों में सफल होंगे। जवाबदारी के कार्य में सफलता मिलेगी। बाहरी कार्य में व्यस्तता के साथ सहयोग मिलेगा। मन प्रसन्न रहेगा। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। नौकरीपेशा लाभान्वित होंगे।

फरवरी- महत्वपूर्ण मामलों में सफलता मिलेगी। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। मित्र वर्ग का सहयोग मिलने से प्रसन्नता रहेगी। व्यापार-व्यवसाय में प्रगतिपूर्ण वातावरण पाएंगे। दांपत्य जीवन में मधुरता का वातावरण रहेगा।

मार्च- आर्थिक प्रयासों में सफल होंगे। दांपत्य जीवन में मधुर वातावरण रहेगा। पारिवारिक मामलों में समय उत्तम व्यतीत होगा। नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए सुखद समय रहेगा। उत्साहजनक समाचार मिलेगा।

अप्रैल- धन, कुटुंब एवं वाणी के द्वारा आप अपने कार्य में प्रगतिपूर्ण वातावरण पाएंगे। मान-प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। सोचे कार्य बनेंगे। शत्रु पक्ष पर प्रभाव बढ़ेगा।

मई- पारिवारिक मामलों में समय ठीक रहेगा। मकान भूमि संबंधी कार्य बनेंगे। पराक्रम में वृद्धि होगी। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे। नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए समय ठीक रहेगा।

जून- संतान पक्ष के कार्य में प्रगति आएगी। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। लेखन संबंधी मामलों में समय सुखद कहा जा सकता है। मातृ पक्ष से चिंता दूर होगी। स्त्री पक्ष का सहयोग मिलने से प्रसन्नता रहेगी।

जुलाई- भाग्योन्नति में थोड़े परिश्रम से ही प्रगति होगी। शत्रु पक्ष प्रभावहीन होंगे। धन लाभ के योग भी बनेंगे। व्यापार-व्यवसाय में समय अनुकूल ही रहेगा। नौकरीपेशा राहत पाएंगे।

अगस्त- समय मिलाजुला रहेगा। कोई भी कार्य बगैर सोचे-समझे ना करें। स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। नौकरीपेशा सहयोग लेकर चलें। पारिवारिक मामलों में बड़ों की सलाह उपयोगी साबित होगी।

सितंबर- इस माह आप उत्साहजनक समाचार पाएंगे। पिछली समस्याओं से निजात मिलेगी। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। पारिवारिक सुख शांति बनी रहेगी। नौकरीपेशा भी लाभान्वित होंगे। स्त्री पक्ष से लाभ रहेगा।

अक्टूबर- दांपत्य जीवन में मधुर वातावरण के साथ प्रसन्नता रहेगी। संतान पक्ष का सहयोग लाभकारी रहेगा। पारिवारिक कार्य बनेंगे। व्यापार-व्यवसाय में प्रगति होगी। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। उत्साह में वृद्धि होगी।

नवंबर- आर्थिक मामलों में सुधार होने के साथ-साथ, शत्रु पक्ष से बचकर चलना होगा। पारिवारिक सहयोग लेकर अनुकूल स्थिति पाएंगे। भाग्योन्नति में समय उत्तम रहेगा। महत्वपूर्ण कार्य भी होंगे।

दिसंबर- इच्छित कार्यों में सफलता मिलेगी। पारिवारिक सुख शांति बनी रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल रहेगा। मान- प्रतिष्ठा में यथेष्ट लाभ मिलेगा। सोचे कार्य सफल होंगे। नौकरीपेशा व्यक्ति सहयोग पाएंगे

वेबदुनिया पर पढ़ें