वर्ष 2013 में क्या चमकेगा आपका करियर

वर्ष 2013 और आपका करियर

2013 : नए साल में जानिए करियर के सितार

करियर की दृष्टि से यह वर्ष आपके लिए कैसा रहेगा आइए देखते हैं -

मेष- मेष राशि वालों के लिए यह वर्ष करियर के लिहाज से उत्तम साबित होगा। दशम भाव करियर से संबंध रखता है, इस भाव में मंगल लग्न का स्वामी होकर उच्च का है वहीं शनि भी उच्च का है। अतः यह वर्ष मेष राशिवालों के लिए करियर की दृष्टि उत्तम हैं।

बाकी राशि अगले पन्ने पर



FILE


वृषभ- वृषभ राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी उच्च का होकर षष्ट भाव में है, जो काफी परिश्रम के बाद सफलताओं के दर्शन कराता है। भविष्य को उज्ज्वल बनाने के लिए शनि को प्रसन्न करें। प्रति शनिवार को तिल का तेल कच्ची जमीन पर एक चम्मच गिराएं।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


मिथुन- मिथुन राशि वालों को अपने करियर में सतर्कता रखनी होगी। आपको गुरु को प्रसन्न करना होगा। प्रति गुरुवार दत्त भगवान के दर्शन व श्वान को रोटी अवश्य खिलाएं।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


कर्क- कर्क राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी त्रिकोणेश होकर केन्द्रेश सप्तम भाव में उच्च का है, अत: आप सफलता की नई उड़ान भरने में सक्षम होंगे। मूंगा-मोती पहनने से सफलता के मार्ग खुलेंगे।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


सिंह- इस राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी शुक्र चतुर्थ भाव में मंगल की राशि वृश्चिक में है, वहां से सप्तम दृष्टि दशम भाव पर स्वग्रही होने से वांछित सफलता मिलेगी। किसी कार्य के लिए घर से निकलें तो माता के चरण स्पर्श करके जाएं।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


कन्या- कन्या राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी बुध, करियर के लिए सफलताओं को देने वाला है। चतुर्थ भाव में गुरु की राशि धनु में बुधादित्य योग होने से अति उत्तम सफलताओं का साल रहेगा। कार्य में रुकावट आ रही हैं, तो वह दूर होगी।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


तुला- तुला राशि वालों के लिए दशमेश चंद्र दशम में ही स्वराशि कर्क में है, वहीं नीच के मंगल की दृष्टि भी है। अतः मेहनत, धैर्य और दृढ़ इच्छा शक्ति रखने पर सफल होंगे। प्रति सोमवार को दही कुछ मात्रा में जल में डाल कर स्नान करें लाभ होगा।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


वृश्चिक- वृश्चिक राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी सूर्य द्वितीय यानी वाणी भाव में मित्र राशि का होने से वाणी के प्रभाव से नई ऊंचाईयों पर पहुंच सकते हैं। माणिक पहनें व सूर्य को दूध-मिश्री मिला जल चांदी के लोटे में लेकर प्रातः अर्घ्य दें।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


धनु- धनु राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी बुध गुरु की राशि धनु में होकर भाग्येश सूर्य के साथ बुधादित्य योग बना रहा है। इस वर्ष निश्चित ही सफलता की ‍नई सीढ़‍ियों पर चढ़ेंगे।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


मकर- मकर राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी शुक्र एकादश भाव में मंगल की राशि वृश्चिक में है, वहीं वृश्चिक का स्वामी मंगल उच्च का होकर लग्न में है। अतः आप परिश्रम द्वारा उत्तम सफलता पाएंगे।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


कुंभ- कुंभ राशि वालों के लिए दशमेश मंगल व्यय यानी द्वादश भाव में उच्च का है। अतः आप करियर के लिए बाहर प्रयास करें, सफल होंगे। बाहर का मतलब विदेश या जन्म स्थान से दूर हो सकता है।

बाकी राशि अगले पन्ने पर


FILE


मीन- मीन राशि वालों के लिए दशम भाव का स्वामी वक्री होकर तृतीय भाव में शुक्र की राशि में होने से, काफी परिश्रम करने पर सफल होंगे। गुरुवार का व्रत करें व नौ केले प्रति गुरुवार को सफल होने तक चढ़ाएं।

समाप्त





वेबदुनिया पर पढ़ें