सपनों में अगर आप भी देखते हैं इन्हें तो हो सकती है अनहोनी...पढ़ें रोचक जानकारी

* अगर सपने में दिखाई दें शरीर के ये अंग तो जानिए क्या होगा उनका फल
 
सपने हम सभी देखते हैं। लेकिन जब हम सपने याद करते हैं तो कुछ समझ नहीं आता कि आखिर इतनी अतार्किक बातों या घटनाक्रम का क्या अर्थ है? लेकिन स्वप्न विज्ञान विश्लेषक और ज्योतिष के विशेषज्ञ बताते हैं कि इनका हमारे जीवन से नाता होता है, क्योंकि सपनों की दुनिया अनोखी होती है।  इनमें कुछ न कुछ संदेश अवश्य छुपे होते हैं। 
 
तो आइए यहां जानते हैं कि जब हमें सपनों में शरीर के अंग दिखाई दें तो उनका क्या फल होता है। जानिए कुछ खास स्वप्न फल, जो आपको भविष्‍य में होने वाली घटनाओं के बारे में सूचित करते हैं।
 
शरीर के विभिन्न अंग और उनका स्वप्न फल :-
 
* सिर- मान-सम्मान की प्राप्ति होगी।
* सिर के बाल- सौंदर्य और शक्ति में वृद्धि होगी।
* मुंह- संपर्क का दायरा बढ़ेगा।
* चेहरा- साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी।
* मस्तक- रौब और महत्व बढ़ेगा। 
* भौंहें- प्रसिद्धि बढ़ेगी।
* पलकें- व्यवहार में मधुरता आएगी।
* आंखें- भलाई के काम संपन्न होंगे।
* नाक- अधिकार प्राप्त होगा।
* कान- पुत्र-पत्नी से सुख मिलेगा।
* होंठ- धनलाभ होगा।
* दांत- किसी परिजन की मृत्यु होगी।
* ठोड़ी- विशेष व्यक्ति से मित्रता होगी।
* गला- भलाई के काम होंगे।
* कंठ- व्यवहारकुशलता बढ़ेगी।
* कनपटी- रोजी-रोजगार मिलेगा। 
* जबड़ा- व्यापार में प्रगति होगी।
* कंधे- जिम्मेदारियों में वृद्धि होगी।
* बाजू- शरीर शक्तिशाली होगा।
* मूंछ- कर्ज का बोझ उतरेगा।
* दाढ़ी- अधिकार में वृद्धि होगी। 
* हाथ- नई योजनाएं बनेंगी।
* हाथ का अंगूठा- विश्वासघात होने का भय रहेगा।
* उंगलियां- भाई-बहनों से सुख मिलेगा।
* हथेली- धन-संपत्ति मिलेगी।
* पसलियां- स्त्रियों द्वारा कोई भेद खुल जाएगा।
* पीठ- मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी।
* सीना- मान-सम्मान प्राप्त होगा।
* वक्षस्थल- पुत्रियों का विवाह होगा।
* पेट- धन में वृद्धि होगी।
* कमर- प्रसिद्धि मिलेगी।
* नितंब- सौभाग्य की प्राप्ति होगी।
* पैर- दूर-निकट की यात्रा होगी।
* एड़ी- ताकत बढ़ेगी।
* पैर के तलुए- सौभाग्य की प्राप्ति होगी।
* पैर की उंगलियां- धन में वृद्धि होगी।
* मूत्रेंद्रिय- भोग-विलास की बढ़ोतरी होगी
* योनि- मुश्किलें आसान होंगी।
* जांघें- परिवार में वृद्धि होगी। 
* पिं‍डलियां- रोजगार मिलेगा।
* घुटना- धन प्राप्त होगा।
* टखना- नए अनुबंध होंगे।
* पैर का अंगूठा- यात्रा होगी।
 
ALSO READ: क्या हुआ जब श्री गणेश ने धारण किया स्त्री का रूप, पढ़ें एक ऐसी कथा, जो किसी को नहीं पता

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख लेफ्ट हैंडर्स हैं तो क्या शुभ कार्य नहीं कर सकते? बाएं हाथ से लिखते हैं तो जानिए 15 जरूरी बातें