6 मई को बन रहा है सबसे सौभाग्यशाली योग (पढ़ें 12 राशियों पर प्रभाव)

* 6 मई को चन्द्र बनाएगा 'महालक्ष्मी योग', जानिए 12 राशियों पर क्या प्रभाव होगा
 
चंद्र-मंगल की युति बनाएगी शुभ महालक्ष्मी योग
 
2 मई, बुधवार को मंगल अपनी राशि परिवर्तन कर मकर राशि में प्रवेश कर गए। मकर राशि में मंगल उच्च राशिस्थ होंगे, वहीं 6 मई, रविवार को चन्द्र भी अपनी राशि परिवर्तन कर मकर राशि में प्रवेश करेंगे अत: 6 मई को गोचरवश चन्द्र व मंगल की युति होगी।

ज्योतिष शास्त्र में चन्द्र-मंगल युति को बहुत शुभ व धनदायक माना जाता है। गोचरवश 'चन्द्र-मंगल' की युति के कारण 6 मई को 'महालक्ष्मी योग' का सृजन होगा। यह एक अत्यंत शुभ योग है। यह योग केवल सवा दो दिनों तक ही रहेगा।
 
आइए जानते हैं कि गोचरवश बनने वाले 'महालक्ष्मी योग' का समस्त 12 राशियों पर क्या प्रभाव होगा?
 
1. मेष- मेष राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप अभीष्ट कार्यों की सिद्धि होगी। मनोवांछित कार्य सरलता से पूर्ण होंगे। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। मन प्रसन्न रहेगा। राज्य की ओर से सम्मान व धन की प्राप्ति होगी। कर्मक्षेत्र में पदोन्नति होगी।
 
2. वृषभ- वृषभ राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप हानि होगी। हृदय संबंधी रोग के कारण कष्ट होगा। संतान से मतभेद व कष्ट होगा। गुप्त शत्रुओं के कारण पीड़ा होगी।
 
3. मिथुन- मिथुन राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप मानसिक अशांति होगी। अपच व खांसी के कारण कष्ट होगा। पारिवारिक विवाद के चलते मन अवसादग्रस्त रहेगा। धन का नाश होगा। अचानक आई किसी गंभीर विपत्ति के कारण कष्ट होगा।
 
4. कर्क- कर्क राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप धनलाभ होगा। यात्राओं से लाभ होगा। मन प्रफुल्लित रहेगा। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। पद व प्रतिष्ठा की प्राप्ति होगी। यश की प्राप्ति होगी।
 
5. सिंह- सिंह राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप धन की प्राप्ति होगी। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। मन प्रसन्न रहेगा। महिला मित्रों से लाभ होगा। शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। व्यय अधिक होगा।
 
6. कन्या- कन्या राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप यात्रा में कष्ट होगा। दुर्घटना होने की संभावना है। कार्यों में असफलता प्राप्त होगी। मन विषादग्रस्त रहेगा। धनहानि होगी। स्वास्थ्य खराब रहेगा।
 
7. तुला- तुला राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप स्वजनों से विवाद होगा। माता को कष्ट होगा। वाहन से हानि होगी। हृदय रोग के कारण कष्ट होगा। अनिद्रा के कारण कष्ट होगा। जल-दुर्घटनाओं की आशंका रहेगी। स्त्री वर्ग से लांछन के कारण अपमान होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल होगी।
 
8. वृश्चिक- वृश्चिक राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप धनलाभ होगा। उत्तम वस्त्राभूषणों की प्राप्ति होगी। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। शत्रु पराभव होगा। प्रेम संबंध सफल होंगे। जीवनसाथी से प्रेम बढ़ेगा। मन आनंदित रहेगा। श्रेष्ठ व्यक्तियों के संपर्क के कारण लाभ होगा।
 
9. धनु- राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप मानसिक असंतोष रहेगा। बंधु-बांधवों से मतभेद के कारण पीड़ा व कष्ट होगा। नेत्रों में रोग होने की संभावना है। कार्यों में असफलता प्राप्त होगी।
 
10. मकर- मकर राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप समस्त कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। धनलाभ होगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। मन प्रसन्न रहेगा। उत्तम भोजन, वस्त्र व शैया सुख की प्राप्ति होगी। भाग्य का साथ मिलेगा।
 
11. कुंभ- कुंभ राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप आय बढ़ेगी। व्यापार में लाभ होगा। मन प्रसन्न रहेगा। पुत्र जन्म की संभावना बनेगी। स्त्री वर्ग का सहयोग प्राप्त होगा। मित्रों से लाभ होगा।
 
12. मीन- मीन राशि वाले जातकों को इस योग के फलस्वरूप शारीरिक कष्ट होगा। मन अवसादग्रस्त रहेगा। आलस से कारण कार्य बाधित होंगे। धनहानि होगी। प्रतिष्ठा धूमिल होगी। यश प्राप्त नहीं होगा। नेत्रों में दर्द के कारण कष्ट होगा। व्यय अधिक होगा। कर्ज बढ़ेगा। संतान के कारण कष्ट होगा। शारीरिक ऊर्जा का व्यर्थ ह्रास होगा।
 
-ज्योतिर्विद् पं. हेमन्त रिछारिया
प्रारब्ध ज्योतिष परामर्श केंद्र
संपर्क: [email protected]
 
ALSO READ: मंगल का मकर राशि में गोचर, क्या होगा आप पर असर (पढ़ें 12 राशियां)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख मई 2018 के शुभ योग-संयोग जानिए...