क्यों मना करते हैं सीटी बजाने से पुराने लोग, जानिए 5 बातें

आपको भी कभी न कभी सीटी बजाने के लिए अपने बड़ों से डांट जरूर पड़ी होगी। उन्होंने कहा होगा कि यह अच्छी आदत नहीं है, लेकिन क्यों यह अच्छी आदत नहीं है इसका कारण कम ही लोग जानते होंगे। हालांकि जानकार कहते हैं कि सीटी बजाना फेफड़ों के लिए एक बेहतरीन एक्सरसाइज है। लेकिन सीटी बजाने की आदत से आपके गाल का शेप भी बिगड़ सकता है और अत्यधिक सीटी बजाने से फेफड़े कमजोर भी हो सकते हैं। लेकिन हम इस तरह के नुकसान की बात नहीं कर रहे हैं।
 
कई लोगों की मुंह से या अंगुलियों को मुंह में डालकर सीटी बजाने की आदत होती है। आखिर सीटी बजाना कितना उचित और अनुचित है यह बताना कठिन है। लेकिन यदि आप किसी गाने को रिकार्ड करने या अन्य किसी अच्छे मकसद से सीटी बजा रहे हैं तो निश्चित ही बजाना चाहिए। हालांकि परंपरा, ज्योतिष और जनश्रुति अनुसार रात में सीटी बजाना आपके लिए घातक सिद्ध हो सकता है। अब इसमें कितनी सत्यता है यह तो हम नहीं जानते।
 
1.पहली मान्यता : ऐसा कहते हैं कि घर में या रात में सीटी नहीं बजाना चाहिए। इससे धन की हानि होती हैं।
 
2.दूसरी मान्यता : कहते हैं कि सीटी बजाने से व्यक्ति किसी अंजान संकट को भी बुलावा दे सकता है। इससे अन्य लोगों की मानसिकता भंग होती है और वे चिढ़ते हैं।
 
3.तीसरी मान्यता : यह भी माना जाता है कि रात में सीटी बजाने से बुरी आत्माएं सक्रिय हो जाती हैं। हालांकि यह धारणा जापान से भारत में प्रचलित हो गई है।
 
4.चौथी मान्यता : भारत में रात में सीटी बजाना अशुभ एवं सांप को बुलाने वाला माना जाता है।
 
5.पांचवीं मान्यता : कुछ लोग यह भी मानते हैं कि सीटी बजाने से भैरव और शनिदेव रुष्ठ हो जाते हैं।

(इस लेख में व्यक्त विचार/विश्लेषण लेखक के निजी हैं। इसमें शामिल तथ्य तथा विचार/विश्लेषण वेबदुनिया के नहीं हैं और वेबदुनिया इसकी कोई ज़िम्मेदारी नहीं लेती है)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख सोने और जागने से जुड़ीं ये 6 बातें आपकी आंखें खोल देंगी...