Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मारुति का सरकारी कर्मचारियों को त्योहारी तोहफा, विभिन्न मॉडलों पर 11,000 तक की ‘छूट’

webdunia
रविवार, 18 अक्टूबर 2020 (15:36 IST)
नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया सरकारी कर्मचारियों के लिए विशेष पेशकश लेकर आई है। इसके तहत सरकारी कर्मचारियों को त्योहारी सीजन के दौरान विभिन्न मॉडलों की खरीद पर 11,000 रुपए तक का लाभ मिलेगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल में सरकारी कर्मचारियों को अवकाश यात्रा रियायत (LTC) के एवज में नकद वाउचर देने की घोषणा की है। कंपनी का मानना है कि सरकार की इस घोषणा के बाद उसकी विशेष पेशकश से मांग को और प्रोत्साहन देने में मदद मिलेगी।

कंपनी ने रविवार को कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों, पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों सहित केंद्रीय और राज्य सरकारों के विभागों के कर्मचारी मारुति सुजुकी का नया वाहन खरीदने पर इस पेशकश का लाभ ले सकेंगे। इस पेशकश के तहत विभिन्न मॉडलों पर अलग-अलग छूट दी जाएगी।

मारुति सुजुकी के कार्यकारी निदेशक (विपणन एवं बिक्री) शशांक श्रीवास्तव ने कहा कि सरकार ने कोविड-19 महामारी के दौरान उपभोक्ता खर्च बढ़ाने के लिए कई ठोस उपाय किए हैं। हमारा भी कर्तव्य बनता है कि हम अर्थव्यवस्था को समर्थन दें और सकारात्मक धारणा को आगे बढ़ाएं।

श्रीवास्तव ने कहा कि विभिन्न केंद्रीय और राज्य सरकारों के विभागों में सरकारी कर्मचारियों की संख्या एक करोड़ से अधिक है। मारुति सुजुकी के लिए यह उपभोक्ताओं का सबसे बड़ा वर्ग है। इसी के मद्देनजर हमने सरकारी कर्मचारियों के लिए विशेष पैकेज की घोषणा की है। इससे वे एलटीसी नकद वाउचर योजना के लाभ के अतिरिक्त अपनी पसंद की कार खरीद सकेंगे और छूट पा सकेंगे।

कंपनी ने कहा कि हालिया घोषित एलटीसी नकद वाउचर योजना से करीब 45 लाख केंद्रीय और रक्षा कर्मचारियों को फायदा होगा। इससे 31 मार्च, 2021 तक 28,000 करोड़ रुपए की अतिरिक्त उपभोक्ता मांग पैदा होगी।

मारुति ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों के लिए यह योजना एरिना और नेक्सा श्रृंखला द्वारा बेचे जाने वाले सभी यात्री वाहनों...आल्टो, सेलेरियो, एस-प्रेसो, वैगन-आर, ईको, स्विफ्ट डिजायर, इग्निस, बलेनो, विटारा ब्रेजा, एर्टिगा, एक्सएल6, सियाज और एस-क्रॉस पर लागू होगी। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

3 सप्ताह से कम हो रहा है कोरोना का कहर, सर्दियों में आ सकती है दूसरी लहर