Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बिहार चुनाव : राजद का जन्म ही नेता को भ्रष्टाचार से बचाने के लिए हुआ था : रविशंकर

webdunia
शुक्रवार, 16 अक्टूबर 2020 (17:02 IST)
पटना। केंद्रीय विधि मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को कहा कि बिहार का मुख्य विपक्ष राष्ट्रीय जनता दल (राजद) का जन्म ही अपने नेता को भ्रष्टाचार से बचाने के लिए हुआ था।
 
प्रसाद ने शुक्रवार को यहां बिहार में भाजपा के चुनाव प्रभारी एवं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के घटक जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के वरिष्ठ नेता एवं जल संसाधन मंत्री संजय झा, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान तथा विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के प्रवक्ता विश्वनाथ राम की मौजूदगी में भाजपा की ओर से 'जन-जन की पुकार, आत्मनिर्भर बिहार' पर आधारित रिपोर्ट कार्ड जारी करने के बाद कहा कि राजद का जन्म ही अपने नेता को भ्रष्टाचार से बचाने के लिए हुआ था। राजद रेत की ढेर पर खड़ा है।
 
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उनकी पार्टी जहां एक ओर जनता के विकास के प्रति पूरी जिम्मेदारी के साथ समर्पित है तो वहीं दूसरी ओर कुछ दल परिवार को जागीर बनाने में लगे हैं, वह भी पीढ़ी-दर-पीढ़ी। उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई में राजग के कार्यकाल में सड़क, बिजली और पेयजल की बेहतर व्यवस्था की गई है। उसकी चर्चा चारों तरफ हो रही है। पिछले 6 माह में 45, 000 गांव में ऑप्टिकल फाइबर का नेटवर्क बिछाया गया है।
 
प्रसाद ने कहा कि बिहार की नीतीश सरकार ने स्कूली छात्राओं के लिए जहां साइकल योजना शुरू की वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बच्चों को वायुसेना के लड़ाकू विमान में पायलट बनाने का काम किया। वायुसेना के लड़ाकू विमान में पहले 3 पायलट की जिम्मेदारी संभालने वालों में बिहार के दरभंगा की एक बेटी भी है।
 
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आज पटना से बिहार के किसी भी जगह पर सड़क मार्ग से अधिकतम 5 घंटे में पहुंचा जा सकता है। मुख्यमंत्री कुमार के नेतृत्व में किए गए काम की चर्चा हो रही है, वहीं मुख्य विपक्षी राजद के अपने बैनर-पोस्टर से पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की तस्वीर नहीं लगाने से बिहार के लोग 15 वर्ष पूर्व के कालखंड को नहीं भूल सकते।
 
उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या अपहरण, लूट और हत्या को भूला जा सकता है? राजद बिहार के विकास की बात कैसे कर सकता है जिसकी बुनियाद ही कमजोर हो तो उस पर पक्का मकान कैसे बन सकता है? 
वहीं जल संसाधन मंत्री एवं जदयू के वरिष्ठ नेता संजय झा ने कहा कि बिहार में हमेशा से जाति के नाम पर वोट मांगा गया लेकिन मुख्यमंत्री कुमार ने इस संस्कृति को बदला है। अब विकास के मुद्दे पर वोट की अपील की जा रही है।
 
उन्होंने कहा कि कुमार ने वर्ष 2005 में जब जिम्मेदारी संभाली थी तब बिहार की क्या स्थिति थी और आज प्रदेश की क्या स्थिति है, किसी से छुपी नहीं है। भाजपा के चुनाव प्रभारी एवं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर स्पष्ट किया कि बिहार राजग में भाजपा, जदयू, हम और वीआईपी हैं। इनके अलावा अन्य कोई भी घटक दल नहीं है। उन्होंने कहा कि राजग के घटक दल के नेताओं ने कार्यकर्ताओं को स्पष्ट रूप से कह दिया है और कार्यकर्ताओं में अब किसी भी तरह का संशय नहीं है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पहले जातिवाद की बात होती थी, अब जनता को रिपोर्ट कार्ड दिखाना होता है : नड्डा