Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

इस वजह से अपने पिता के पर्स से पैसे चुराते थे सिद्धार्थ शुक्ला

हमें फॉलो करें webdunia

WD Entertainment Desk

सोमवार, 12 दिसंबर 2022 (12:16 IST)
टीवी के पॉपुलर अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला भले ही अब इस दुनिया में ना हो, लेकिन वह फैंस के दिलों में हमेशा जिंदा रहेंगे। 12 दिसंबर को सिद्धार्थ शुक्ला की बर्थ एनिवर्सरी है। इस मौके पर हर कोई उन्हें याद कर रहा है। सिद्धार्थ शुक्ला ने काफी कम समय में मनोरंजन जगत में एक अलग मुकाम हासिल किया था। 
 
12 दिसंबर 1980 को मुंबई जन्मे सिद्धार्थ शुक्ला ने मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत की थी। मॉडलिंग के दिनों में ही उन्होंने अपने पिता को खो दिया था। उनका निधन फेफड़ों की बीमारी के कारण हुआ था। सिद्धार्थ शुक्ला के पिता अशोक शुक्ला एक सिविल इंजीनियर थे और उनकी मां रीता शुक्ला हाउसवाइफ हैं। उनके पिता रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के साथ काम कर चुके थे। सिद्धार्थ की दो बड़ी बहनें भी हैं। सिद्धार्थ अपनी मां के बेहद करीब थे। 
 
webdunia
सिद्धार्थ शुक्ला साल 2004 में ग्लैडरैग्स मैनहंट और मेगामॉडल कॉन्टेस्ट के रनर अप रहे थे। उन्होंने 2008 में 'बाबुल का आंगन छूटे ना' से टीवी डेब्यू किया था। टीवी सीरियल 'बालिका वधू' से सिद्धार्थ शुक्ला को जबरदस्त पहचान मिली थी। इस शो में उन्होंने शिवराज का रोल निभाया था।
 
सिद्धार्थ शुक्ला की लोकप्रियता में तब और इजाफा हो गया जब वे बिग बॉस 13 विजेता बने। इस शो में उनकी और शहनाज की नजदीकियों की काफी चर्चा हुई। वह वरुण धवन और आलिया भट्ट के साथ फिल्म 'हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया' में भी नजर आए थे। 
 
webdunia
नि‍धन के कुछ समय पहले ही सिद्धार्थ ने वेब सीरीज 'ब्रोकन बट ब्यूटीफुल' से डिजिटल डेब्यू किया था। इस सीरीज में उनकी एक्टिंग को खूब सराहा गया था। बिग बॉस शो में सिद्धार्थ शुक्ला ने बताया था कि किस प्रकार वह लड़कियों को इंप्रेस करने के लिए अपने पिता के पर्स से पैसे चुराया करते थे। 
 
सिद्धार्थ ने अपने कॉलेज के दिनों को याद करते हुए बताया था कि वह किस प्रकार गर्ल्स को पटाने का प्रयास किया करते थे। उन्होंने कहा था कि, पापा का पर्स हमेशा भरा हुआ रहता था, वो अपने पैसे काफी सिस्टमैटिकली रखते थे। नोटों के हिसाब से। मैने सोचा इतना पैसा है, उन्हें समझ में नहीं आएगा कौन सा पैसा कहां है। मुझे लगा ये बगल वाला भरा रहता है। मुझे नहीं लगता कि पापा गिन कर रखते होंगे। तो मैंने 2-3 बार उधर से पैसे निकाल लिए।
Edited By : Ankit Piplodiya 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मध्यप्रदेश की 10 रोमांटिक जगह हनीमून के लिए हैं परफेक्ट डेस्टिनेशन