सिने-मेल (21 अगस्त 2007)

WDWD
प्रिय पाठको,
वेबदुनिया के बॉलीवुड के सेक्शन में नित नई, मनोरंजक, आकर्षक, दिलचस्प और चटपटी सचित्र जानकारियाँ देने की हमारी कोशिश रहती है। इन्हें पढ़कर आपको कैसा लगता है, हम जानना चाहते हैं।

आपकी बॉलीवुड संबंधी प्रतिक्रिया और सुझाव हम 'सिने-मेल' में प्रकाशित करेंगे। हमें इंतजार है आपके ई-मेल का।

धमाल फिल्म की कहानी मुझे बेहद पसंद आई। मुझे उम्मीद है कि यह फिल्म जरूर हिट होगी।
- संजय प्रजापति ([email protected])

चक दे इंडिया की समीक्षा पढ़कर मुझे ऐसा लगा जैसे मैंने फिल्म ही देख ली हो।
- हिमांशु कालिया ([email protected])

सना नवाज़ का बॉलीवुड में आगाज़ पढ़कर पता चला कि पाकिस्तानी अभिने‍त्री को भारत की फिल्म में काम मिला। मुझे समझ में नहीं आता कि क्या भारतीय अभिनेताओं को पाकिस्तान की किसी फिल्म में आज तक काम मिला है, जो हम हमारी फिल्मों और टीवी पर पाक कलाकारों को मौका देते रहते हैं।
- नवनीत मेहता ([email protected])

चक दे इंडिया बहुत उम्दा फिल्म है। ये एक खेल पर आधारित फिल्म ना होकर देशभक्ति को बढ़ाने वाली फिल्म है। इतनी अच्छी फिल्म बनाने के लिए शिमित अमीन और शाहरुख खान को बधाई। उम्मीद है कि भविष्य में भी वे ऐसी बेहतर फिल्म बनाएँगे।
- निखिल शर्मा ([email protected])

सुरक्षित जमीन की तलाश में फिल्मी सितारे आलेख से मैं पूरी तरह सहमत हूँ। हर व्यक्ति को अपना पैसा व्यापार, जमीन, बैंक में लगाने का पूरा हक है। यह अच्छी बात है।
- मिथिलेश कुमार ([email protected])

चक दे इंडिया बेहद शानदार फिल्म है। शाहरुख का अभिनेता के रूप में जवाब नहीं है। हॉकी टीम में मुझे प्रिया सबरवाल, कोमल, बिंदिया और विद्या की भूमिका अच्छी लगी। हॉकी के प्रति देशवासियों का नजरिया इस फिल्म के बाद बदलेगा।
- प्रफुल्ल कुमार धर्मल ([email protected])

सलमान और उनकी प्रेमिकाएँ पढ़ने के बाद हमें भी लग रहा है कि वे दोनों दिसम्बर में शादी कर लेंगे। दोनों की जोड़ी खूब जमेगी।
- मदन जायसवाल, नारायण जायसवाल (खातेगाँव - मप्र) ([email protected]echoupal.com)

चक दे इंडिया की समीक्षा पढ़कर बहुत अच्छा लगा। मुझे वेबदुनिया में प्रकाशित सभी आलेख अच्छे लगते हैं।
- इकबाल अली ([email protected])

गुलजार के बारे में लिखा गया आलेख ‘मैंने तेरे लिए ही सात रंग के सपने चुने’ मुझे बेहद पसंद आया।
-‍‍िज़या हसन ([email protected])

मुझे चक दे इंडिया बिलकुल भी पसंद नहीं आई। शाहरुख के प्रशंसक ही इस फिल्म को हिट घोषित कर रहे हैं। शाहरुख अभिताभ बच्चन की कभी बराबरी नहीं कर सकते। शाहरुख का करियर अब ढलान पर है।
- नरेश ([email protected])


कुशल निर्देशक की यह खूबी है कि वो दर्शक को फिल्म देखते समय बाँधकर रखे और इस कसौटी पर चक दे इंडिया खरी उतरती है।
- विक्रम ([email protected])

तीन दिन पहले तक पता नहीं होता कि कौन सी नायिका किससे शादी करेगी। इस पर करीना का यह कहना कि वह शादी दो साल बाद करेगी हास्यास्पद लगता है।
- लोचन गुप्ता ([email protected])

मेरीगोल्ड फिल्म बेहद घटिया है। पता नहीं सलमान ने यह फिल्म क्यों की?
- डॉ. हेमंत आचार्य ([email protected])

करीना शादी दो वर्ष बाद करेगी पढ़ा। मेरा मानना है कि करीना बहुत अच्छी नायिका है और उसने कुछ फिल्मों में बेहतरीन अभिनय किया है।
- उमेश मोटघारे ([email protected])

वेबदुनिया पर पढ़ें