ज़ीनत अमान के बारे में 30 रोचक जानकारियां

1) 19 नवम्बर 1951 को जन्मी ज़ीनत अमान को बॉलीवुड की उस हीरोइन के रूप में याद किया जाता है जिसने नायिकाओं की परिभाषा को बदल कर रख दिया। 
2) ज़ीनत ने जब फिल्मों में कदम रखा तब ज्यादातर हीरोइनें इंडियन लुक में नजर आती थीं, लेकिन ज़ीनत ने वेस्टर्न लुक में अपने आपको पेश कर धमाका कर दिया। 

3) बोल्डनेस को भी ज़ीनत अमान ने नई परिभाषा दी। कैमरे के सामने हिचक तोड़ वे बिंदास तरीके से पेश आईं और यही कारण है कि उनके फैंस ने सेक्स सिम्बल खिताब से ज़ीनत को नवाजा। 
4) ज़ीनत के पिता अमानुल्लाह खान स्क्रिप्ट राइट थे और बतौर सहायक उन्होंने 'मुगल-ए-आज़म' और 'पाकीज़ा' जैसी फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखी। वे अमान नाम से लिखते थे। 
5) ज़ीनत जब 13 वर्ष की थीं तब उनके पिता गुजर गए तो ज़ीनत ने अपने नाम में पिता का नाम जोड़ लिया और वे ज़ीनत खान से ज़ीनत अमान बन गईं। 

6) ज़ीनत की मां ने हैंज़ नामक जर्मन पुरुष से दूसरी शादी कर ली और वे अपने साथ ज़ीनत को भी जर्मनी ले गईं। वहां से वे लॉस एंजिल्स पढ़ाई करने गईं, लेकिन 18 वर्ष की होने पर पढ़ाई अधूरी छोड़ ज़ीनत भारत में करियर बनाने के लिए आईं। 
7) फिल्म अभिनेता रज़ा मुराद की ज़ीनत कज़न हैं। 
8) ज़ीनत ने बतौर पत्रकार 'फेमिना' में काम किया और बाद में वे मॉडलिंग की तरफ मुड़ी। ताज महल चाय के लिए उन्होंने मॉडलिंग की। 
9) ज़ीनत ने मिस इंडिया प्रतियोगिता में भी हिस्सा लिया और सेकंड रनर-अप रही। 1970 में वे मिस एशिया पैसिफिक बनी। 
10) ज़ीनत को ओपी रल्हन ने फिल्मों में पहली बार अवसर दिया। 'हलचल' (1971) उनकी पहली फिल्म है।

11) हलचल और हंगामा (1971) के पिटने के बाद ज़ीनत ने जर्मनी अपनी मां के पास लौटने का निश्चय कर लिया, लेकिन इसी बीच उन्हें बॉलीवुड के सुपरस्टार देव आनंद ने 'हरे रामा हरे कृष्णा' ऑफर की जो 1971 में ही रिलीज हुई। 
12) हरे रामा हरे कृष्णा के लिए ज़ीनत पहली चॉइस नहीं थीं। पहले ज़ीनत वाला रोल ज़ाहिदा को ऑफर हुआ था, लेकिन वे देव आनंद की बहन की बजाय उनकी प्रेमिका बनना चाहती थीं, लिहाजा उन्होंने फिल्म छोड़ दी और देव आनंद ने ज़ीनत को चुन लिया। 
13) हरे रामा हरे कृष्णा में ज़ीनत ने अपने आपको वेस्टर्न स्टाइल को इस तरह पेश किया कि वे करोड़ों दर्शकों के दिल की धड़कन बन गईं। उन पर फिल्माया गया गीत 'दम मारो दम' आज भी युवाओं को पसंद आता है। 
14) ज़ीनत अमान को देव आनंद बेहद पसंद करते थे। ज़ीनत के साथ उन्होंने हीरा पन्ना, इश्क इश्क इश्क, प्रेम शास्त्र, वारंट, डार्लिंग डार्लिंग और कलाबाज जैसी फिल्में की। बरसों बाद देव आनंद ने स्वीकारा था कि वे ज़ीनत अमान को चाहने लगे थे।  
15) यादों की बारात (1973) की सफलता के बाद ज़ीनत अमान स्टार बन गईं। इस फिल्म में 'चुरा लिया है तुमने जो दिल को' गीत ज़ीनत पर फिल्माया गया और वे युवाओं के दिल की धड़कन बन गईं। 

16) वेस्टर्न लुक, हॉट अंदाज और कपड़े पहनने में कंजूसी के कारण ज़ीनत अमान मैगज़ीन की पसंदीदा अभिनेत्री बन गईं। कई मैगज़ीन के कवर की उन्होंने शोभा बढ़ाई और इसी वजह से उन्हें कवर गर्ल कहा जाने लगा। 
17) ज़ीनत अमान को कभी अच्छी अभिनेत्री नहीं माना गया, इसके बावजूद उन्होंने उस दौर के नामी फिल्म मेकर, देव आनंद, राज कपूर, बीआर चोपड़ा, फिरोज़ खान, प्रकाश मेहरा, मनोज कुमार, मनमोहन देसाई, राज खोसला के साथ काम किया। 
18) 1978 में ज़ीनत की दो बड़ी फिल्म सत्यम शिवम सुन्दरम और शालीमार फ्लॉप रही जिससे ज़ीनत के करियर पर प्रश्न चिन्ह लग गया, लेकिन ज़ीनत ने सफल वापसी की। 
19) सत्यम शिवम सुन्दरम को राज कपूर ने निर्देशित किया जिनके साथ फिल्म करना हर हीरोइन का ख्वाब होता है। ज़ीनत ने इस फिल्म में जम कर अंग प्रदर्शन किया और उन्हें कुरूप स्त्री के रूप में फिल्म में पेश किया गया। फिल्म के प्रदर्शित होने के बाद ज़ीनत की जम कर आलोचना हुई, लेकिन बाद में उन्हें इस फिल्म के जरिये ख्याति भी मिली। 
20) ज़ीनत ने अपने दौर के नामी स्टार्स अमिताभ बच्चन, धर्मेन्द्र, जीतेन्द्र, देव आनंद, राजेश खन्ना के साथ फिल्में की। 

21) फिल्म डॉन उन्होंने हीरोइन के बतौर एक्शन किया और उनके रोल की जम कर सराहना हुई। डॉन के निर्माता नरीमन ईरानी की फिल्म के निर्माण के दौरान मृत्यु हो गई थी इसलिए ज़ीनत अमान ने फिल्म में काम करने के बदले में एक पैसा भी नहीं लिया। 
22) ज़ीनत अमान ने कई फिल्में ऐसी भी की जिनमें उन्हें महज सेक्स अपील बढ़ाने के लिए लिया गया। 
23) अलीबाबा और 40 चोर के बाद ज़ीनत अमान की लोकप्रियता रूस में बढ़ गई। 
24) किसी हीरोइन के बोल्ड अंदाज को देख उसे ज़ीनत अमान कहा जाता है। जैसे परवीन बॉबी को 'गरीबों की ज़ीनत अमान', सारिका को 'ज़ीनत अमान 2', पद्मिनी कोल्हापुरे को 'बेबी ज़ीनत' और बिपाशा बसु को 'न्यू एज ज़ीनत' कहा गया। 
25) ज़ीनत अमान ने 1985 में मज़हर खान से विवाह कर कई पुरुषों का दिल तोड़ दिया। 1998 में मज़हर की मृत्यु हो गई। अज़ान और ज़हान नामक उनके दो बेटे हैं। 

26) ज़ीनत की फिरोज़ खान, इमरान खान, कंवलजीत और संजय खान से भी नजदीकियों के चर्चे रहे। कहा जाता है कि संजय से भी उन्होंने विवाह रचाया था, जो कुछ दिनों तक ही टिक सका। दोनों के बीच एक पार्टी में मारपीट की खबरों ने भी सुर्खियां बटोरी।  
27) सत्यम शिवम सुन्दरम, कुरबानी, अब्दुल्लाह, दोस्ताना जैसी फिल्में ज़ीनत के अंग-प्रदर्शन के कारण याद की जाती है। 
28) 1972 में ज़ीनत को फिल्म 'हरे रामा हरे कृष्णा' के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला। 
29) सलमान खान ने 'मैंने प्यार किया' देखने के लिए ज़ीनत अमान को बुलाया। फिल्म देख कर ज़ीनत थिएटर से बाहर आई तो सलमान ने ज़ीनत से फिल्म के बारे में पूछा। ज़ीनत ने फिल्म की आलोचना कर दी और कहा कि यह कैसी बचकानी फिल्म है जिसमें हीरोइन की एड़ी पर क्रीम लगाते हुए हीरो आंखें बंद कर लेता है। 
30) ज़ीनत पढ़ाकू हैं और उन्हें नई-नई किताब पढ़ना अच्छा लगता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख खूबसूरत औरत और चौकीदार