Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

टीवी चैनल 'आजाद' के दो शोज 'मेरी डोली मेरे अंगना' और 'पवित्र भरोसे का सफर' इस दिन से होंगे प्रसारित

webdunia
बुधवार, 8 सितम्बर 2021 (14:05 IST)
दर्शकों की पसंद पर आधारित, बिगिनेन मीडिया के पहले मनोरंजन चैनल, आजाद गांव प्रेमियों का पहला प्रीमियम हिन्दी मनोरंजन चैनल है। 'मेरी डोली मेरे अंगना' और 'पवित्र भरोसे का सफर' शीर्षक वाले आजाद के पहले दोनों शोज को वर्षों की शोध के जरिए दर्शक की गहरी समझ के आधार पर बनाया गया है। 

 
'हमारी मिट्टी हमारा आसमान' की ब्रांड विचारधारा के अनुरूप जनता से जुड़ने और उन्हें शामिल करने के लिए इन शोज़ की थीम तैयार की गई है। 14 सितंबर 2021 से, मेरी डोली मेरे अंगना रात 9 बजे और पवित्र भरोसे का सफर 9:30 बजे, आजाद पर प्रसारित होगा और साथ ही एमएक्स प्लेयर पर भी प्रसारित होगा।
 
आज़ाद के पहले ओरिजिनल शो का शीर्षक है मेरी डोली मेरे अंगना। टेल-ए-टेल मीडिया के प्रसिद्ध निर्माताओं, जितेंद्र गुप्ता और महेश तागड़े द्वारा निर्मित इस पहले हिन्दी धारावाहिक का शीर्षक तत्काल उत्सुकता जगाता है। यह शो बिठूर की पृष्ठभूमि पर आधारित है, जहां पूरा सिंह परिवार, खासकर उनके पिता, बेटी को अपनी आंखों का तारा मानते हैं। 
 
यह आज के ग्रामीण परिवार की कहानी है, जो परिवार के आपसी संबंधों की खूबसूरती और उलझनों को दर्शाती है। कुछ परिस्थितियों के कारण ये रिश्ते बदल जाते हैं और इससे नायिका के जीवन पर भी गहरा काफी प्रभाव पड़ता है। अपनी शादी के बाद, उसे पता चलता है कि पुराने सामाजिक कायदे, जहां एक बेटी और बहू में फर्क किया जाता है, अब भी मौजूद हैं। 
 
यह शो जानकी के एक गैर-अनुभवी और मासूम बेटी से एक अनुभवी बहू बनने का सफर है, जो अपनी शादी के बाद मुश्किल स्थितियों और बदलते हालातों को संभालना सीखती है। आस्था अभय ने जानकी का मुख्य किरदार निभाया है और उनके अलावा सुरेंद्र पाल, रुद्राक्षी गुप्ता और अंकित रायजादा ने भी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई हैं।
 
आजाद के दूसरे ओरिजिनल शो का शीर्षक है पवित्र भरोसे का सफर और इसे पार्थ प्रोडक्शन के जाने-माने प्रोड्यूसर संतोष सिंह, रोशेल सिंह और पर्ल ग्रे ने प्रोड्यूस किया है। मेरठ की पृष्ठभूमि पर आधारित यह पारिवारिक ड्रामा, गांव प्रेमियों के साथ जुड़ता है, क्योंकि यह महिला सशक्तिकरण को प्रोत्साहित करने और सामाजिक समस्याओं से जूझने पर केन्द्रित है, साथ ही दो अलग-अलग इंसानों की एक भावुक प्रेम कहानी भी है। 
 
यह शो आज के ग्रामीण युवाओं की आकांक्षाओं और आशाओं को छूता है क्योंकि उनमें से अधिकांश उच्च शिक्षा के बाद बेहतर नौकरी चाहते हैं और अपने जीवन के विकल्प तय करने की आज़ादी भी चाहते हैं। यह शो पवित्रा नाम की एक युवा लड़की का सफर दर्शाता है, जो एक गरीब टैक्सी ड्राइवर की बेटी है और अपनी शिक्षा पूरी करने और आत्मनिर्भर बनने की हसरत रखती है। वो अपने लक्ष्य पूरे करने के लिए किसी भी हद तक जाती है। 
 
वह एक सफल उद्यमी बनने के लिए लिंगभेद और सामाजिक अपवादों से लड़ती है और उन सभी बंदिशों को तोड़ती है, जो उसके विकास की राह में बाधा बनते हैं। अंततः वो अन्य महिलाओं को अपने परिवार और अपनी देखभाल करने में सक्षम बनाने में मदद करती है। पवित्रा की भूमिका शैली प्रिया ने निभाई है और अन्य कलाकारों में नीलू वाघेला, कुमार राजपूत और शीज़ान मोहम्मद शामिल हैं।
 
बिगिनेन मीडिया प्राइवेट लिमिटेड (बीएमपीएल) के मैनेजिंग डायरेक्टर, भरत कुमार रंगा कहते हैं, आजाद इस इंडस्ट्री में पहली बार एक रचनात्मक मॉडल से दर्शकों पर केन्द्रित मॉडल की ओर रुख कर रहा है। अपने दर्शकों का विश्वास हासिल करना हमारे मॉडल का प्रमुख उद्देश्य है क्योंकि ये दर्शकों को लेकर हमारे गहरे अनुभवों पर आधारित है। हमारे ओरिजिनल शोज़ में गांव प्रेमियों की पसंद है, क्योंकि यह शोज़ दर्शकों को ध्यान में रखते हैं, न कि रचनात्मकता को।
 
उन्होंने  कहा, उत्तर भारत के विभिन्न गांवों से आज उनके साथ लाइव जुड़ना हमारे लिए सौभाग्य की बात है, क्योंकि हमने जो कुछ भी किया है, उसके केंद्र में अपने दर्शकों को रखा है और उन्हें वो अनुभव दिया है, जो वे चाहते हैं। अपनी विशाल तादाद के साथ गांव प्रेमी जनता एक बड़े वर्ग के रूप में उभर रही है, जिनके बीच एक बड़ा अवसर मौजूद है। लोगों को सबसे पहले रखने की सोच के साथ आज़ाद चैनल गांव प्रेमी डीएनए को दर्शाता है, जो सच्ची भारतीयता की पहचान है। 
 
हमें अपने कंटेंट क्रिएटर्स, जितेंद्र गुप्ता, महेश तागडे, संतोष सिंह, रोशेल सिंह और पर्ल ग्रे के साथ जुड़कर बेहद खुशी हो रही है, जिन्होंने हमारे पहले दो ओरिजिनल शोज़, ‘मेरी डोली मेरे अंगना’ और ‘पवित्र भरोसे का सफर’ बनाया है। ये शो अपने-से लगते हैं और सच्ची भारतीय मानसिकता को ग्रामीण परंपराओं और मूल्यों के साथ सामंजस्य बिठाने के लिए प्रेरित करेंगे, साथ ही उनके जज़्बातों की झलक दिखाएंगे और उनकी आकांक्षाओं को पूरा करने की भावना पैदा करेंगे।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मशहूर यूट्यूबर कैरी मिनाती के खिलाफ शिकायत दर्ज, महिलाओं पर अपमानजनक टिप्पणी करने का लगा आरोप