Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Birth Anniversary : सुशांत‍ सिंह राजपूत को टीचर कहते थे इश्कबाज, स्कूल के पहले ही दिन मिली थी यह सजा

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 21 जनवरी 2022 (10:51 IST)
बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत का निधन 14 जून 2022 को हो गया था। सुशांत के अचानक निधन से हर कोई हैरान रह गया था। अगर सुशांत सिंह राजूपत आज‍ जिंदा होते, तो वह अपना 36वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे होते। सुशांत का जन्म 21 जनवरी 1986 को बिहार के पटना में हुआ था।

 
सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से उनकी जिंदगी के कई किस्से सामने आए। अपनी उच्च शिक्षा के लिए सुशांत 2001 में बिहार से राजधानी दिल्ली आ गए थे। उन्होंने कुलाची हंसराज मॉडल स्कूल में एडमिशन लिया और वहां उनके कुछ अच्छे दोस्त बने। उनमें से एक नव्या जिंदल भी हैं। उन्होंने पुराने दिनों को याद करते हुए दिवंगत अभिनेता के बारे में एक किस्सा साझा किया था।
 
webdunia

नव्या ने बताया था कि सुशांत और मैं 11 वीं क्लास के पहले दिन मिले थे। हम दोनों ही दिल्लीवासी नहीं थे, शायद इसीलिए पहले ही दिन हमारी अच्छी दोस्ती हो गई। मुझे याद है कि हमने अपना परिचय दिया और फिर एक साथ बैठे। जल्द ही हम बिना रुके ढेर सारी बातें कर रहे थे।
 
उन्होंने कहा था, इसी बीच सुशांत ने एक मजेदार जोक सुनाया कि हम सब हंसने लगे। जाहिर है, टीचर ने हमें देख लिया और हम सबको क्लास के बाहर कान पकड़कर खड़ा कर दिया। कल्पना करें कि स्कूल में पहले ही दिन हमें सजा मिली, मैं वह दिन कभी नहीं भूल सकती। इसके बाद भी मैं और सुशांत हंस रहे थे।
 
webdunia

नव्या ने यह भी खुलासा किया था कि स्कूल की एक शिक्षक सुशांत को 'कैसेनोवा' (इश्कबाज) कहती थीं। नव्या ने बताया, सुशांत हर किसी का पसंदीदा था। वह स्कूल के समय के दौरान आकर्षण का केंद्र रहता था। लड़कियां हमेशा उससे बात करना चाहती थीं। वह एक आकर्षक व्यक्तित्व वाला था। हमारी केमेस्ट्री की टीचर उसे कैसेनोवा कहती थीं। वो अक्सर कहती थीं, पढ़ाई-लिखाई में ध्यान नहीं, बस आवारागर्दी करनी है।
 
नव्या सुशांत के म्यूजिक के शौक के बारे में भी बताया था। उन्होंने कहा था, वह किशोर दा के जबरदस्त प्रशंसक थे। हम हर समय उनके गाने सुनते थे और गाते भी थे। जब भी मैं गाने में गलती कर देती थी तो सुशांत मेरे सिर पर थपकी मार देते थे। उसके मुताबिक किशोर दा के गाने की लिरिक्स में गलतियां करना अपराध था।
 
बता दें कि सुशांत अपनी चार बहनों में इकलौते भाई थे। सुशांत ने 2008 में टीवी सीरियल 'किस देश में है मेरा दिल' से एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी। उन्हें पहचान टीवी शो 'पवित्र रिश्ता' से मानव के किरदार से मिली थी। इस सीरियल में काम करने के बाद लोग उन्हें घर-घर में जानने लगे थे और इसी की बदौलत उन्हें बॉलीवुड में भी एंट्री मिली।
 
सुशांत ने साल 2013 में रिलीज हुई फिल्म 'काई पो छे' से बॉलीवुड डेब्यू किया था। इसके बाद वह शुद्ध देसी रोमांस, पीके, ब्योमकेश बख्शी, एमएस धोनी, राब्ता, केदारनाथ जैसी कई हिट फिल्मों में नजर आए। सुशांत की मौत के बाद उनकी फिल्म दिल बेचारा रिलीज हुई थी। 
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

चुनौतीपूर्ण भूमिका करना चाहती हैं वाणी कपूर, बोलीं- चंडीगढ़ करे आशिकी में अपनी रेंज को दिखाया