Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

स्कूल के दिन किसी के भी जीवन के सबसे अच्छे दिन होते है : स्नेहलता वासिकर

webdunia
बुधवार, 14 अप्रैल 2021 (16:50 IST)
सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन का ऐतिहासिक शो 'पुण्यश्लोक अहिल्याबाई' रानी अहिल्याबाई होल्कर के सम्मानित जीवन पर आधारित है, जिन्होंने अपने ससुर मल्हार राव होल्कर के समर्थन के साथ, पूर्व-निर्धारित सामाजिक मानदंडों को परिभाषित किया और लोगों के कल्याण के लिए सकारात्मक योगदान दिया, विशेष रूप से महिलाओं को।

 
शो में दिखाया जा रहा है कि कैसे कम उम्र से भी अहिल्या एक असाधारण लड़की थीं। उन्होंने सपने देखने की हिम्मत की और समाज के अन्यायपूर्ण नियमों का पालन करने से इनकार कर दिया। शो के वर्तमान ट्रैक में, सीखने के प्रति सदैव उत्सुक रहने वाली अहिल्या को औपचारिक शिक्षा प्राप्त करने की इच्छा है, वह भी तब जब उसके अपने माता-पिता उसे आगे बढ़ाने से हतोत्साहित करते हैं। 
 
webdunia
अहिल्या चाहती हैं कि उन्हें एक समान माना जाए और उनके साथ समान व्यवहार किया जाए जैसा उनके पति खांडे राव के साथ किया जाता है। शो में शिक्षा वाले इस ट्रैक की शूटिंग के लिए अभिनेत्री स्नेहलता वासिकर को कास्ट किया गया है, जो इस शो में गौतमा बाई यानी अहिल्या की सास की भूमिका निभाती हैं।
 
अपने स्कूल के दिनों को याद करते हुए स्नेहलता इमोशनल होकर यादों में खो जाती हैं और उन्हें वो अच्छे- पुराने दिनों की याद आती है जब जीवन आसान और चिंता मुक्त था।
 
इस बारे में शेयर करते हुए अभिनेत्री स्नेहलता वासिकर ने कहा, मुझे लगता है कि स्कूल के दिन हमारे जीवन के सबसे अच्छे दिन होते हैं। यह सभी के लिए एक शुरुआत होती है। स्कूल हमारे चरित्र को आकार देता है, हमारे मानसिक दृष्टिकोण को ढालता है और जीवन के मूल सिद्धांतों के बारे में बताता है। 
 
उन्होंने कहा, शो का वर्तमान शिक्षा ट्रैक मेरे दिल और आत्मा को अनगिनत यादों से भर देता है जो स्कूल के दिनों से जुड़ी हुई हैं। जैसे कि वे कहते हैं, समय एक दिशा में चलता है, और स्मृति दूसरी दिशा में। और मुझे खुशी है कि मेरे माता-पिता को शिक्षा महत्वपूर्ण लगी और उन्होंने हमेशा मुझे पढ़ाई में अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित किया। मैं भी अपनी बेटी के लिए भी यही चाहती हूं। मेरा मानना है कि शिक्षा आपको एक व्यक्ति के रूप में ढालती है और आपको वह बनाने की दिशा में मार्गदर्शन देती है जो आप हैं।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कोरोना का प्रकोप, महाराष्ट्र सरकार ने फिल्म, टीवी शूटिंग पर फिर लगाई रोक