Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

अनाथ हुए 4 बच्चों को गोद लेंगे सोनू सूद, जहरीली शराब से पिता और सदमे से मां की हो गई थी मौत

webdunia
शनिवार, 8 अगस्त 2020 (13:46 IST)
कोरोनावायरस की वजह से लगे लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों की मदद करके सोनू सूद ने सभी का दिल ‍जीत लिया था। उन्होंने कई मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने में मदद की। सोनू ने मदद का यह सिलसिला अब तक जारी रखा हुआ है। वे अब कई लोगों को रोजगार मुहैया करा रहे हैं।

 
वहीं अब सोनू सूद ने एक बार फिर सभी का दिल जीत लिया है। दरअसल, सोनू सूद ने पंजाब में अनाथ हुए चार मासूम बच्‍चों को सहारा दिया है। ये वे बच्चे हैं, जिनके पिता की जहरीली शराब की वजह से बीते दिनों मौत हो गई। इसके बाद सदमे की वजह से मां की भी जान चली गई तो चारों अनाथ हो गए। 
 
webdunia
अब इनकी जिंदगी संवारने के लिए सोनू सूद आगे आए हैं। वह इन चारों बच्‍चों को गोद लेंगे। खबरों के अनुसार बीते गुरुवार को रिक्शा चालक सुखदेव सिंह की मौत का पता चला तो सदमे में दो घंटे बाद पत्‍नी ज्योति की भी मौत हो गई। हालांकि पंजाब सरकार की तरफ से मृतकों के परिवार को 5 लाख रुपए और नौकरी की घोषणा की है, लेकिन सुखदेव सिंह के परिवार में मासूम बच्चों को संभालने वाला कोई नहीं है। इनकी जिंदगी संवारने का बीड़ा बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने उठाया है।

 
सोनू सूद ने कहा कि वह इन बच्चों को गोद लेंगे। चारों बच्चों को फाजिल्का के माता छाया आश्रम में रखकर अच्छी परवरिश की जाएगी। बच्चों की पढ़ाई का जिम्मा भी सोनू सूद खुद उठाएंगे। इस बारे में सोनू के दोस्त ईएचडी चेंबर्स ऑफ कॉमर्स के चेयरमैन करन गल्होत्रा ने बताया कि अनाथ हुए चार बच्चों को एनजीओ चलाने वाले गगनदीप सिंह अपने घर ले गए थे। 
 
उधर, जिला बाल भलाई कमेटी के चेयरमैन डॉ. दिनेश गुप्ता ने कहा कि बच्चों को गोद लेने के लिए सेंटरलाइजेशन अडॉप्शन रिसोर्स एजेंसी (कारा) के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई किया जा सकता है। फिलहाल चारों बच्चे अपने रिश्तेदारों के पास रह रहे हैं। इन बच्चों की काउंसिलिंग भी जरूरी है। इसके लिए बच्चों की देखभाल कर रहे रिश्तेदारों को कमेटी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

करीबी दोस्त ने बताया, दिशा सालियान की मौत से पहले पार्टी में क्या हुआ था?