Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Covid 19 in India: कोरोना संक्रमण के 11831 नए मामले, 84 और रोगियों की मौत

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
सोमवार, 8 फ़रवरी 2021 (12:52 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार भारत में 1 दिन में कोरोनावायरस संक्रमण के 11,831 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,08,38,194 हो गई है जबकि इस महीने चौथी बार 1 दिन में कोविड-19 से जान गंवाने वालों की तादाद 100 से कम रही है।
 
मंत्रालय द्वारा सुबह 8 बजे जारी आंकड़ों के अनुसार 1 दिन में 84 रोगियों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,55,080 हो गई है। आंकड़ों के अनुसार ठीक हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 1,05,34,505 हो गई है जिसके साथ ही संक्रमण से उबरने की दर 97.20 तक पहुंच गई है जबकि कोविड-19 मृत्युदर फिलहाल 1.43 प्रतिशत है। मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 के उपचाराधीन रोगियों की संख्या 2 लाख से कम है।
आंकड़ों में बताया गया है कि देश में उपचाराधीन रोगियों की संख्या 1,48,609 है, जो अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या का 1.37 प्रतिशत है। भारत में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या 7 अगस्त को 20 लाख, 23 अगस्त को 23 लाख, 5 सितंबर को 40 लाख, 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को 1 करोड़ से अधिक हो गई थी। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार 7 फरवरी तक कुल 20,19,00,614 नमूनों की कोविड-19 जांच की जा चुकी है। रविवार को 5,32,236 नमूनों की जांच की गई।
देश में 1 दिन में कोविड-19 से मौत के 84 मामले सामने आए हैं जिनमें से महाराष्ट्र से 30, केरल से 19, छत्तीसगढ़ से 6, पश्चिम बंगाल से 5, उत्तराखंड से 4, कर्नाटक से 3, दिल्ली, गोवा, हरियाणा और पंजाब से सामने आए 2-2 मामले शामिल हैं।
 

भारत में कोविड-19 से अब तक कुल 1,55,080 रोगियों की जान चुकी है। इनमें से महाराष्ट्र में 51,310, तमिलनाडु में 12,383, कर्नाटक में 12,236, दिल्ली में 10,879, पश्चिम बंगाल में 10,207, उत्तरप्रदेश में 8,687 और आंध्रप्रदेश में 7,159 रोगियों की मौत हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 70 प्रतिशत से अधिक मामलों में रोगी अन्य बीमारियों से भी ग्रस्त थे। मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा कि हमारे आंकड़ों का भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के आंकड़ों से मिलान किया जा रहा है। (भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसको कहा आंदोलनजीवी..?