Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मध्यप्रदेश में फिर बज रही कोरोना के खतरे की घंटी, बोले CM शिवराज, महाराष्ट्र की यात्रा से बचें, नाइट कर्फ्यू अभी नहीं

भोपाल,इंदौर के साथ महाराष्ट्र से सटे जिलों में लगातार बढ़ रहे कोरोना के केस

हमें फॉलो करें webdunia
webdunia

विकास सिंह

गुरुवार, 25 फ़रवरी 2021 (20:27 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना को लेकर फिर खतरे की घंटी फिर बज रही है और भोपाल और इंदौर में लगातार कोरोना के एक्टिव केस बढ़ रहे है। यह कहना है प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का। प्रदेश की जनता के नाम अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना मध्यप्रदेश में फिर एक बार अपने पैर पसार रहा है और लगातार एक्टिव केस बढ़ते जा रहे है विशेषकर भोपाल और इंदौर में।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र से सटे जिले बैतूल,छिंदवाड़ा और डिंडौरी में भी लगातार कोरोना के एक्टिव केस बढ़ रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कोरोना के केस में पिछले सप्ताह तक काफी कमी हो गई थी लेकिन अब फिर केस बढ़ रहे है। कोरोना संक्रमण फिर से फैल कर विकराल रुप धारण करने से पहले हमें उसे रोकना होगा।
webdunia

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर परिस्थितियां बिगड़ती है तो लॉकडाउन लगाना पड़ता है जिससे अर्थव्यवस्था चौपट हो जाती है। हम नहीं चाहते हैं कि लॉकडाउन की नौबत आए। इसलिए लोगों से प्रार्थना है कि मास्क का उपयोग करें और भीड़भाड़ वाले स्थानों से बचे। कोरोना से ज्यादा प्रभावित जिलों में बडे मेलों का आयोजन निरस्त किया गया है और इंदौर में शादी और विवाह को लेकर नई गाइडलाइन भी बनाई गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी नाईट कर्फ्यू नहीं लगा रहे है लेकिन परिस्थितियां बिगड़ी तो उस ओर जाना होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कोरोना को लेकर खतरे की घंटी बज रही है। महाराष्ट्र में जिस तरह से कोरोना फैला है उससे बॉर्डर के जिलों में काफी सावधानी बरतने जरूरत है। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की वह यथासंभव महाराष्ट्र की यात्रा से बचे। उन्होंने साफ किया कि मजूदरों को प्रदेश में ही रोजगार दिया जाएगा इसलिए रोजगार की तलाश में महाराष्ट्र नहीं जाए। उन्होंने कहा कि अभी खतरे का टला नहीं है इसलिए जिलों में बनाई गई कोरोना की हर गाइडलाइन का पालन करें।  
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

बंगाल को कटमनी, टोलाबाजी के लिए टीके की आवश्यकता, भाजपा इसका प्रबंध करेगी : जेपी नड्डा