Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भोपाल में ट्रायल के पहले दिन 6 लोगों को लगाई गई कोरोना की कौवैक्सिन

भारत बायोटेक की कोरोना की कोवैक्सिन का तीसरे फेज का ट्रायल शुरु

webdunia
webdunia

विकास सिंह

शुक्रवार, 27 नवंबर 2020 (20:45 IST)
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भारत बायोटेक की तैयार हो रही कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्सिन’ (Covaxin) का तीसरे चरण का ट्रायल आज से शुरु हो गया है। राजधानी की पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में आज कोरोना वैक्सीन के क्लीनिक्ल ट्रायल के पहले दिन सात वॉलिटियर को ‘कोवैक्सिन’ का टीका लगाया गया।
ALSO READ: Exclusive:हर्ड इम्युनिटी कोरोना से बचाव के लिए फुलप्रूफ नहीं,बोले ICMR के पूर्व निदेशक डॉ. रमन गंगाखेडकर,मास्क से लगेगा महामारी पर ब्रेक
पहले दिन जिन लोगों को कोवैक्सिन लगाई गई उसमें एक शिक्षक,कारोबारी दंपती और बुजुर्ग वॉलिटियर शामिल है। वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल में वॉलिटियर को डोज देने से पहले उनकी पूरी काउंसलिंग की गई और वैक्सीन से संबंधित पूरी जानकारी दी गई। इसके साथ वॉलिटयर्स के पूरे स्वास्थ्य का परीक्षण भी किया गया।

वैक्सीन का पहला डोज लगाए जाने के बाद वॉलिटियर के स्वास्थ्य पर लगातार निगरानी रखी जाएगी। एक सप्ताह के बाद वॉलिटियर के स्वास्थ्य का परीक्षण किया जाएगा।

कोरोना वैक्सीन के ट्रायल को लेकर पीपुल्स मेडिकल कॉलेज के वाइस चांसलर राजेश कपूर कहते हैं कि कोरोना वैक्सीन का ट्रायल करना हमारे लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन के निर्माण से सभी को राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि अब तक कई वॉलिटियर खुद से ही ट्रायल के लिए आगे आ चुके है और वैक्सीन के क्लीनिक्ल ट्रायल में पूरी सावधानी बरती जा रही है।  
 ALSO READ: EXCLUSIVE: मध्यप्रदेश में लोगों को मैसेज से मिलेगी कोरोना वैक्सीनेशन की सूचना,तीन चरणों में सात करोड़ लोगों के टीकाकरण का प्लान तैयार
भारत बायोटक की तैयार की गई कोवैक्सिन के ट्रायल के लिए शहर कई सामाजिक कार्यकर्ताओं स्वेच्छा से आगे आकर अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। ‘भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के साझेदारी के साथ ‘कोवैक्सिन’ के तीसरे चरण के ट्रायल के लिए देश के 25 शहरों को चुना गया है जिसमें राजधानी भोपाल भी शामिल है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

भारतीय अर्थव्यवस्था पर कोरोना संकट बरकरार, जुलाई-सितंबर तिमाही में GDP में 7.5 प्रतिशत की गिरावट