Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कोरोना के बढ़ते मामलों पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गंभीर, कल बुलाई आपात बैठक

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
गुरुवार, 1 अप्रैल 2021 (18:10 IST)
नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से बढ़ते कोरोनावायरस (Coronavirus) के केस को लेकर बेहद गंभीर हैं और इस पर खुद नजर बनाए हुए हैं। मुख्यमंत्री ने कल एक आपात बैठक बुलाई है। यह बैठक कल शाम 4 बजे मुख्यमंत्री आवास पर संपन्न होगी।

बैठक में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, स्वास्थ्य विभाग समेत अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों की रोकथाम के लिए एक्शन प्लान, वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति, कंटेनमेंट जोन, अस्पतालों के बेड प्रबंधन और सीरो सर्वे के साथ वर्तमान में कोरोना मामलों की मैपिंग आदि की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समीक्षा करेंगे। संबंधित विभागीय अधिकारियों को कोरोना से निपटने के लिए विस्तृत प्लान के साथ बैठक में उपस्थित होने का निर्देश दिया गया है।

दिल्ली समेत देशभर में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मुख्यमंत्री में वृद्धि देखी गई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद दिल्ली में बढ़ रहे कोरोना मामलों पर कड़ी नजर रखे हुए हैं और अधिकारियों से प्रतिदिन की अपडेट ले रहे हैं। दिल्ली निवासियों को कोरोना की वजह से दिक्कतों का सामना न करना पड़े, इसके लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हो गया है और पिछले कुछ दिनों में विभाग ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

मसलन, मुख्यमंत्री के आदेश के बाद दिल्ली के 33 बड़े अस्पतालों में 25-25 फीसदी आईसीयू और समान्य बेड बढ़ा दिए गए हैं। इन 33 अस्पतालों में 30 मार्च तक कोविड के 1705 समान्य बेड थे, जो अब बढ़कर 2547 हो गए हैं। इस तरह 842 कोविड के समान्य बेड बढ़ा दिए गए हैं। इसी तरह, कोविड मरीजों के लिए 30 मार्च तक 608 आईसीयू बेड थे, जिसमें 230 बेड की वृद्धि की गई है और अब दिल्ली में कोविड के लिए 838 आईसीयू बेड हो गए हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर जिला स्तर पर सर्विलांस टीमें नजर बनाए हुई हैं। कोरोना से संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान की जा रही है। संक्रमितों के संपर्क में आए कम से कम 30 लोगों को ट्रेस किया जा रहा है और जांच कर उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है, ताकि उनके जरिए दूसरें लोगों में कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके।

सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के बावजूद कुछ लोग सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनकर जाने में लापरवाही बरत रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बिना मास्क लगाए सार्वजनिक स्थानों पर जाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। जिला स्तर पर गठित टीमें ऐसे लोगों पर नजर रख रही हैं और बिना मास्क के पाए जाने पर उन पर आवश्यक कार्रवाई कर रही हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर दिल्ली में 80 हजार से अधिक टेस्ट प्रतिदिन किए जा रहे हैं, ताकि कोरोना के फैलाव पर शीघ्र काबू किया जा सके।

केजरीवाल सरकार अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन कराने को लेकर बेहद गंभीर है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर दिल्ली में वैक्सीनेशन सेंटर को बढ़ाकर 600 के आसपास कर दिया गया है। आज से दिल्ली में 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए वैक्सीनेशन अभियान शुरू कर दिया गया है।

जो वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण नहीं करा पाए हैं, दिल्ली सरकार ने उन्हें भी वैक्सीन लगवाने के लिए सहूलियतें प्रदान कर दी है। ऐसे लोग दोपहर 3 बजे से रात 9 बजे के बीच किसी भी वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
सुप्रीम कोर्ट से बिहार सरकार की याचिका खारिज, समय बर्बाद करने पर 20 हजार रुपए का लगाया जुर्माना