Ground Report : चेन्नई में रोजाना सैकड़ों पॉजिटिव फिर भी खुली हैं दुकानें, सड़कों पर लग रहा है ट्रैफिक जाम

मंगलवार, 19 मई 2020 (14:35 IST)
- बालाकृष्णन सुब्रमण्यम, चेन्नई से
सड़कों पर वाहनों का रेला, खुली हुई दुकानें, दफ्तर में सामान्य तरीके से काम करते लोग... कोरोना (Corona) काल में इस तरह के दृश्य किसी भी व्यक्ति को चौंका सकते हैं। लेकिन, यह हकीकत है और तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई और राज्य अन्य शहरों में ऐसे दृश्य आम हैं। 
 
जहां एक ओर बहुत से शहरों से इस तरह की खबरें हैं कि Lockdown के चलते लोगों को अपनी जरूरत का सामान भी मुश्किल से मिल पा रहा है, यह दृश्य उनके लिए ईर्ष्या और आश्चर्य का कारण हो सकते हैं। चेन्नई में गारमेंट शॉप, चश्मे, जूते, मोबाइल, ज्वेलरी आदि की दुकानें आम दिनों की तरह खुली हुई हैं। दुकानों पर भीड़ नहीं है, लेकिन लोग ‍छुटपुट खरीदी के लिए आ रहे हैं। 
 
विधानसभा सचिवालय में लोग काम कर रहे हैं, हालांकि संख्या तुलनात्मक रूप से कम है। चेन्नई के अरुंबकम इलाके में सोमवार को जाम देखा गया, जहां वाहनों की करीब आधा किलोमीटर लंबी कतार लगी हुई थी। एक जानकारी के अनुसार चेन्नई में रोज सैकड़ों कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं। हालांकि फिर भी प्रशासन यहां सख्ती नहीं बरत रहा है।
 
पूरे तमिलनाडु की बात करें तो यहां कोरोना मरीजों की संख्‍या 11 हजार 760 है, जबकि इनमें से 4 हजार 406 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। हालांकि यहां डेथ रेट काफी कम है। अभी तक यहां मरने वालों की संख्‍या 81 है। तुलनात्मक रूप से देखें तो अकेले इंदौर शहर में ही 103 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि यहां कोरोना मरीजों का आंकड़ा 2600 के लगभग है। 
 
हालांकि तमिलनाडु के कुछ इलाकों में लॉकडाउन है, मगर ज्यादातर इलाकों में स्थितियां सामान्य हैं। राजस्थान की राजधानी जयपुर से टैक्सी लेकर तमिलनाडु के मदुरई शहर गए धर्मवीरसिंह जाखल ने बताया कि राजस्थान, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक लॉकडाउन की स्थिति थी। हाईवे पर चौबीसों घंटे खुले रहने वाले ढाबे पूरी तरह बंद थे,  लेकिन तमिलनाडु में घुसने के बाद सभी चीजें सामान्य नजर आईं।
 
उन्होंने बताया कि तमिलनाडु के भीतरी हिस्सों में यातायात सामान्य था। दुकानें भी सामान्य तरीके से खुली हुई थीं। यहां तक कि चाय और चाट-पकौड़ी की दुकानें भी खुली हुई थीं। धर्मवीरसिंह ने बताया कि जिले की सीमा पर जरूर पुलिस वाहनों की जांच कर रही थी, लेकिन शेष स्थानों पर सब कुछ सामान्य ही नजर आया।
 
राजधानी चेन्नई और तमिलनाडु के अन्य इलाकों में जिस तरह से खुले हुए हैं उस तरह आशंका यह भी जताई जा रही है कि आने वाले समय में यहां कोरोना मरीजों की संख्‍या और बढ़ सकती है। लेकिन, सकारात्मक यह है कि धीरे-धीरे स्थितियां सामान्य हो रही हैं। लोग भी पूरी सतर्कता बरत रहे हैं। मास्क, सेनिटाइजर का भी उपयोग कर रहे हैं। 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख यूपी के मंत्री ने साधा प्रियंका-राहुल पर निशाना, कहा- कांग्रेस के वाहनों की सूची में ऑटो व एम्बुलेंस के नंबर