Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

देश में कोरोना के एक्टिव केस 33 लाख के पार, हरियाणा-ओडिशा ने लगाया लॉकडाउन

webdunia
सोमवार, 3 मई 2021 (00:19 IST)
नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस महामारी के कारण रविवार को 3,689 और मरीजों की जान चली गई जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 33 लाख के पार पहुंच गई है। मरीजों के लिए अस्पताल में बिस्तरों, दवाओं और ऑक्सीजन की गंभीर कमी के बीच बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने की कोशिश में कुछ अन्य राज्यों की तरह हरियाणा और ओडिशा ने भी लॉकडाउन लगा दिया है।

ALSO READ: पृथ्वीपुर से कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर का कोरोना से निधन
 
कोविड-19 की स्थिति के प्रभावी प्रबंधन के लिए मानव संसाधन बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न उपायों की समीक्षा की और कई संभावित कदमों पर चर्चा की गई जिसमें चिकित्सा व नर्सिंग कोर्स पास कर चुके छात्रों को महामारी में ड्यूटी करने के लिए प्रोत्साहित करना भी शामिल था, वहीं अंतरराष्ट्रीय सहायता का पहुंचना भी लगातार जारी हैं।

 
फ्रांस, ताईवान, उज्बेकिस्तान और बेल्जियम की तरफ से भेजे गए ऑक्सीजन संयंत्र समेत अन्य चिकित्सीय आपूर्ति यहां पहुंचीं। वहीं देश में 13 विपक्षी दलों के नेताओं ने केंद्र से देशभर में व्यापक पैमाने पर मुफ्त टीकाकरण अभियान शुरू करने का अनुरोध किया। एक संयुक्त बयान में उन्होंने केंद्र का आह्वान किया कि वे सभी अस्पतालों व स्वास्थ्य केंद्रों में निर्बाध ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करे क्योंकि वे मरीजों के बढ़ते बोझ का प्रबंधन कर रहे हैं।
 
इस बयान पर दस्तखत करने वालों में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, जनता दल एस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार, शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, झामुमो नेता और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, द्रमुक नेता एमके स्टालिन, बसपा प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, भाकपा महासचिव डी राजा और माकपा महासचिव सीताराम येचुरी शामिल हैं।

 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण के तहत 1 मई को 18 से 44 आयु वर्ग के कुल 86,023 लाभार्थियों को 11 राज्यों में कोविड टीके की खुराकें दी गई हैं। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शनिवार से शुरुआत के बाद देश में अब तक दिए कोविड-19 टीकों की खुराकें 15.68 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई है। 
 
देश में 1 दिन में कोविड-19 के रिकॉर्ड 3,689 मरीजों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 2,15,542 हो गई है, वहीं 3,92,488 और लोगों में कोरोनावायरस संक्रमण की पुष्टि होने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,95,57,457 हो गए हैं। तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में रविवार को उनके अब तक के सर्वाधिक मामले दर्ज किए गए।  हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने रविवार को ट्वीट किया कि 3 मई से पूरे राज्य में 7 दिन का लॉकडाउन लागू किया जाएगा। इससे पहले राज्य के 9 जिलों में शुक्रवार को सप्ताहांत कर्फ्यू लागू किया गया था, वहीं ओडिशा के मुख्य सचिव एससी मोहपात्रा की ओर से जारी एक वीडियो संदेश में कहा गया कि पूरे राज्य में 14 दिनों के लिए 5 मई से 19 मई तक पूर्ण लॉकडाउन लागू रहेगा।

webdunia
 
आदेश में कहा गया है कि 5 मई (बुधवार) 2021 की सुबह पांच बजे से 19 मई (बुधवार) 2021 तक पूरे राज्य में लॉकडाउन रहेगा। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि राज्य में कोविड-19 के 8015 नए मामले सामने आए हैं जबकि 14 और मरीजों की जान गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्थिति गंभीर बनी हुई है, जहां मुख्यमंत्री ने 3 मई को खत्म होने वाले लॉकडाउन को एक और हफ्ते के लिए बढ़ा दिया है। अदालत के दखल और दिल्ली सरकार व केंद्र के आश्वासनों के बावजूद कुछ अस्पतालों का कहना है कि ऑक्सीजन के लिए जंग अब उनके लिए रोज की जद्दोजहद हो गई है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दमोह विधानसभा उपचुनाव : कांग्रेस का कब्जा बरकरार