मध्यप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, प्रवासी मजदूर की मौत पर 1 लाख रुपए की आर्थिक मदद

रविवार, 17 मई 2020 (22:49 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को कहा कि कोविड-19 की महामारी के दौरान यदि एक राज्य से दूसरे राज्य जा रहे किसी प्रवासी मजदूर की मौत मध्यप्रदेश में किसी आकस्मिक दुर्घटना में हो जाती है तो मध्यप्रदेश सरकार उन मृतकों के परिजन को एक-एक लाख रुपए की आर्थिक मदद देगी।
 
उन्होंने कहा कि इसके अलावा, कोविड-19 के दौरान मध्यप्रदेश में हादसे में गंभीर रूप से घायल होने पर प्रवासी श्रमिकों का नि:शुल्क इलाज किए जाने के साथ-साथ उनको 25,000 रुपए की सहायता राशि दी जाएगी।
 
चौहान ने कहा, 'दूसरे राज्यों के मजदूरों की भी कुछ दुर्घटनाओं में मृत्यु हुई है। इन सभी मजदूरों के परिवारों को 1-1 लाख रुपए की सहायता राशि मध्यप्रदेश सरकार देगी। घायलों का नि:शुल्क इलाज किए जाने के साथ ही उन्हें 25-25 हजार रुपए की सहायता राशि भी सरकार की ओर से प्रदान की जाएगी।' उन्होंने कहा कि हर मजदूर की हम भरसक मदद करेंगे।
 
चौहान ने कहा, ‘मध्यप्रदेश सरकार राज्य के एक-एक मजदूर को वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध है। उनके लिए बड़ी संख्या में ट्रेन एवं बसें चलाई जा रही है तथा उन्हें घर तक पहुंचाया जा रहा है। कोई भी मजदूर जल्दी न करे, पैदल न चले, हम हर मजदूर को शीघ्र ही उसके घर पहुंचाएंगे।’
 
उन्होंने कहा, ‘मध्यप्रदेश में अन्य राज्यों के भी मजदूर बड़ी संख्या में है। साथ ही मध्यप्रदेश देश का हृदय स्थल होने से विभिन्न प्रांतों के मजदूर अपने राज्य में लौटने के लिए मध्यप्रदेश से होकर गुजरते हैं। ये सब मजदूर हमारे अतिथि हैं। हम इन्हें पैदल नहीं चलने देंगे। साथ ही इन्हें भूखा भी नहीं सोने देंगे।’
 
चौहान ने कहा, हमने इन मजदूरों को राज्य की सीमा तक पहुंचाने के लिए लगभग 1,000 बसें रोज चलाई हैं, जो इन्हें वहाँ तक छोड़ रही हैं। इसके साथ ही सबके भोजन, नाश्ते आदि की भी व्यवस्था की गई है। इस कार्य में प्रशासन के साथ जनता भी पूरा सहयोग कर रही है।’ 
 
मध्यप्रदेश जनसंपर्क विभाग के अनुसार छतरपुर जिले में शनिवार को हुई सड़क दुर्घटना में मारे गए श्रमिकों के परिवार को एक-एक लाख रुपए और घायलों को 25-25 हज़ार रुपए की सहायता राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष से प्रदान की गई है। गत दिवस छतरपुर में हुई सड़क दुर्घटना में 6 मजदूरों की मृत्यु हुई थी और 16 मजदूर घायल हुए थे। ये मजदूर उत्तरप्रदेश के निवासी थे और अपने घर लौट रहे थे।
 
छतरपुर कलेक्टर ने सड़क दुर्घटना में मृत्यु पर प्रत्येक मृतक के परिवार को 15,000 रुपए और घायलों को 7,500 रुपए की आर्थिक सहायता राशि अतिरिक्त रूप से स्वीकृत की है। इस तरह इस दुर्घटना में मृत्यु पर 1.15 लाख और घायल होने पर 32,500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रभावित परिवारों को दी गई। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख हिंदुजा, रियूबेन बंधु ब्रिटेन में दूसरे सबसे अमीर