मुख्यमंत्री योगी के निर्देश, प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाए...

सोमवार, 18 मई 2020 (19:16 IST)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों से आ रहे प्रवासी कामगारों और श्रमिकों के लिए सोमवार को निर्देश दिया कि सीमावर्ती क्षेत्र के साथ-साथ टोल प्लाजा, एक्सप्रेसवे और प्रमुख चौराहों पर उनके लिए भोजन एवं पेयजल की व्यवस्था की जाए।

योगी ने यहां अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉकडाउन की समीक्षा के दौरान कहा, उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश करते ही प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को भोजन व पानी उपलब्ध कराया जाए। इसके बाद उनकी स्क्रीनिंग करते हुए उन्हें सुरक्षित व सम्मानजनक ढंग से उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाए।

उन्होंने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्र के साथ-साथ टोल प्लाजा, एक्सप्रेस-वे तथा प्रमुख चौराहों पर प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों के लिए भोजन एवं पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों की सुरक्षित एवं सम्मानजनक प्रदेश वापसी सुनिश्चित की है। सम्बन्धित राज्य सरकारें उत्तर प्रदेश के प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों की सूची उपलब्ध कराएं।

उन्होंने कहा कि पिछले एक सप्ताह में 590 श्रमिक स्पेशल ट्रेन देश के विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को लेकर आ गई हैं। राज्य सड़क परिवहन निगम की 12 हजार बसों के माध्यम से प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को उनके गृह जिलों में भेजने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा सभी 75 जिलों में 15 हजार बसें अतिरिक्त रूप से उपलब्ध कराई गई हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि लोग पैदल, बाइक, थ्री-व्हीलर या ट्रक आदि जैसे असुरक्षित साधनों से यात्रा न करें। इसके लिए पुलिस द्वारा सघन पेट्रोलिंग करते हुए लोगों को जागरूक किया जाए।प्रवासी श्रमिकों को बताया जाए कि वे ट्रेन तथा बस जैसे सुरक्षित साधन से ही यात्रा करें। पैदल, बाइक, थ्री-व्हीलर या ट्रक आदि जैसे असुरक्षित साधन को अपनाकर स्वयं तथा अपने परिवार को जोखिम में न डालें।

उन्होंने कहा कि प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को बस से भेजने के लिए धनराशि भी स्वीकृत की गई है, इसलिए किसी भी प्रवासी कामगार से यात्रा के लिए धनराशि न ली जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों को ट्रेन से निःशुल्क प्रदेश ला रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवहन निगम द्वारा संचालित सभी बसों को नियमित रूप से सैनेटाइज किया जाए। बस में सैनेटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। परिवहन निगम यह भी सुनिश्चित करें कि प्रत्येक निजी बस में दो चालक हों।

उन्होंने परिवहन विभाग को प्रवर्तन कार्य प्रभावी रूप से करने के निर्देश देते हुए कहा कि आरटीओ तथा एआरटीओ सतत निरीक्षण करते हुए यह सुनिश्चित करें कि मार्ग में दुर्घटना न होने पाए। योगी ने कहा कि पृथक केंद्रों तथा सामुदायिक रसोई की व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त रखा जाए। इनमें साफ-सफाई तथा सुरक्षा के समुचित प्रबन्ध किए जाएं।सभी जरूरतमंदों को सामुदायिक रसोई से भरपेट भोजन उपलब्ध कराया जाए।यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी व्यक्ति भूखा न सोने पाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण व शहरी इलाकों में गठित निगरानी समितियों को सक्रिय रखा जाए।मुख्यमंत्री हेल्पलाइन द्वारा निगरानी समितियों के सदस्यों से संवाद कर इनके द्वारा किए जा रहे सर्विलांस कार्य की निगरानी की जाए। उन्होंने पल्स ऑक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि सभी पृथक केंद्रों में यह उपकरण अवश्य हों। (भाषा) 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Covid 19 महामारी के बाद खेल फिर से शुरू होगा तो ये 3 चीजें रहेंगी बरकरार