Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सीरो सर्वे में खुलासा, दिल्ली में 50 प्रतिशत से ज्यादा लोगों में विकसित हुई एंटीबॉडी

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
सोमवार, 25 जनवरी 2021 (22:56 IST)
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में पांचवें दौर के सीरो-प्रीवलेंस सर्वेक्षण के नतीजों से संकेत मिला है कि हो सकता है कि दिल्ली की आबादी कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के खिलाफ समूह प्रतिरोधक क्षमता हासिल करने की ओर बढ़ रही हो। यह जानकारी सूत्रों ने सोमवार को दी।

सूत्रों ने कहा कि सर्वेक्षण में पाया गया है कि एक जिले में एकत्रित नमूनों में से 50-60 प्रतिशत लोगों में कोविड-19 के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित हुई हैं। अधिकारियों ने कहा कि सर्वेक्षण कुछ दिनों पहले समाप्त हुआ। इसके लिए शहरभर के विभिन्न जिलों के 25,000 से अधिक लोगों के नमूने एकत्रित किए गए। दिल्ली की आबादी 2 करोड़ से अधिक है जो कि 11 जिलों में फैली हुई है।

एक सूत्र ने जिले का नाम बताए बिना कहा कि एक जिले में, सीरो-प्रीवलेंस दर 50-60 प्रतिशत के बीच है, जिससे संकेत मिलता है कि बड़ी संख्या में लोगों में एंटीबॉडी विकसित हुई हैं, इसलिए हम कह सकते हैं कि शहर समूह प्रतिरोधक क्षमता प्राप्त करने की दिशा में बढ़ रहा है।

विशेषज्ञों का कहना है कि समूह प्रतिरोधक क्षमता एक जनसंख्या तब विकसित होना कहा जाता है जब एक सीरो-प्रीवलेंस सर्वेक्षण में 50-60 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी पाई जाती है। समूह प्रतिरोधक क्षमता उसे कहते हैं जब एक समूह के लोगों के वायरस से संक्रमित होने के बाद कई लोगों में इसकी प्रतिक्रिया में एंटीबॉडी बनने की वजह से इसके खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाती है।

इसलिए, ऐसे लोग संक्रमित व्यक्ति और अप्रभावित लोगों के बीच एक सुरक्षात्मक परत बन जाते हैं, जिससे वायरस संक्रमण की श्रृंखला टूट जाती है। यह पांचवां ऐसा सर्वेक्षण है जो यहां किया गया लेकिन दिल्ली सरकार ने इस पर कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी है।

पहला सीरो-प्रीवलेंस 27 जून से 10 जुलाई के बीच दिल्ली सरकार द्वारा नेशनल सेंटर फॉर डिसीज़ कंट्रोल (एनसीडीसी) के सहयोग से किया गया था। इसमें 21,387 नमूनों का इस्तेमाल किया गया था और इससे यह बात पता चली थी कि सर्वेक्षण में शामिल लगभग 23 प्रतिशत लोग कोरोनावायरस के संपर्क में आए थे।

बाद में जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार अगस्त में किए गए इस सर्वेक्षण में यह बात सामने आई कि 29.1 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी थी। सितम्बर और अक्टूबर के सर्वेक्षण में, आंकड़े 25.1 प्रतिशत और अक्टूबर में 25.5 प्रतिशत थे। दिल्ली में रविवार को कोविड​​-19 के 185 नए मामले सामने आए थे। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने हाल ही में कहा था कि दिल्ली में महामारी की स्थिति अब नियंत्रण में है।(भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
UPSC Exam-2020 को लेकर सरकार ने कही ये बड़ी बात, जानें क्या है मामला?