Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

देश की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. पद्मावती का 103 साल की उम्र में COVID-19 से निधन

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 31 अगस्त 2020 (10:58 IST)
नई दिल्ली। देश की पहली हृदय रोग विशेषज्ञ (cardiologist) डॉ. शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का 103 वर्ष की आयु में कोविड-19 से निधन हो गया। नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट (एनएचआई) ने यह जानकारी दी। डॉक्टरों ने कहा कि उनका पिछले 11 दिन से एनएचआई में इलाज चल रहा था।
 
एनएचआई ने एक बयान में कहा कि भारत की पहली महिला हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. एस पद्मावती का 29 अगस्त को कोरोनावायरस संक्रमण के कारण निधन हो गया।
 
बयान के मुताबिक वे संक्रमित थीं और उन्हें सांस लेने में तकलीफ और बुखार की शिकायत के बाद भर्ती कराया गया था। उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया हो गया था। हालांकि हृदयाघात के बाद उनका निधन हो गया। इसके मुताबिक रविवार को पंजाबी बाग के कोविड-19 शवदाह गृह में उनकी अंत्येष्टि हुई। 
 
डॉ. शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का जन्म म्यांमार में हुआ था, लेकिन वे द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानी आक्रमण के बाद भारत आ गई थीं और देश की पहली महिला हृदय रोग विशेषज्ञ बन गईं। (इनपुट भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Sushant singh rajput case : विषकन्या है रिया चक्रवर्ती, कस्टडी में लेकर पूछताछ करना जरूरी : सुब्रमण्यम स्वामी