1 जून से शुरू होने वाली ट्रेनों में टिकट जांच करने के लिए नई Guideline जारी

शुक्रवार, 29 मई 2020 (22:42 IST)
नई दिल्ली। भारतीय रेल के 167 के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब रेलगाड़ियों में टिकट की जांच करने वाले कर्मचारी अपने पारंपरिक काले कोट एवं टाई नहीं पहनेंगे। एक जून से शुरू होने वाले 100 जोड़ी ट्रेनों में सवार टिकट जांच करने वाले कर्मचारियों के लिए कोरोना वायरस (Corona virus) कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर रेलवे ने दिशा निर्देश जारी किए हैं जिसके अनुसार उन्हें मास्क, दस्ताने और साबुन के अलावा आतिशी शीशा दिया जाएगा।

रेलवे की ओर से जारी दिशा निर्देशों के अनुसार, कोरोना संक्रमण को रोकने अथवा उसके खतरे को कम करने के मद्देनजर टिकट जांच करने वाले कर्मचारियों के लिए कोट एवं टाई की अनिवार्यता समाप्त की जा सकती है। हालांकि वह इस दौरान अपने नाम ओर पद अंकित बैज पहने रहेंगे।

इसमें यह भी कहा गया है कि ट्रेनों में टिकटों की जांच करने वाले सभी टीटीई कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उन्हें पर्याप्त संख्या में मास्क, फेस शील्ड, दस्ताने, सिर ढंकने का कवर, सैनेटाइजर, साबुन समेत अन्य वस्तुएं मुहैया कराई जाएंगी।
इसमें यह भी कहा है कि यह सुनिश्चित करने के लिए जांच की जा सकती है कि टीटीई वास्तव में सुरक्षात्मक उपकरणों का इस्तेमाल कर रहे हैं या नहीं। इसमें कहा गया है कि ट्रेन में सवार टिकट जांच कर्मचारियों को अगर संभव हुआ तो आतिशी शीशा (मैग्निफाइंग ग्लास) दिया जाएगा ताकि वह दूर से ही टिकटों का विवरण देख सकें और शारीरिक संपर्क से बच सकें।(भाषा) 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Corona : इंदौर, भोपाल,उज्जैन पर विशेष नजर रखने के 3 सीनियर IAS अफसर तैनात