Madhya Pradesh Coronavirus Update : मध्यप्रदेश में Corona संक्रमितों की संख्या 30 हजार के पार

गुरुवार, 30 जुलाई 2020 (02:05 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में रिकॉर्ड 917 नए मामले आने के बाद कुल कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमितों की संख्या बढ़कर 30134 तक पहुंच गई, जिसमें से 20934 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं 591 मरीज के स्वस्थ होने के बाद अब तक इस बीमारी से 20934 मरीज ठीक हो चुके हैं। वर्तमान में 8356 एक्टिव मरीज हैं, जिनका उपचार विभिन्न अस्पताल में चल रहा है।
 
भोपाल में मिले 199 नए कोरोना पॉजिटिव : नए मरीजों में सबसे अधिक 199 मामले राजधानी भोपाल में आए। बड़वानी में 101 नए मामले सामने आए, जिसने इंदौर को पीछे छोड़ दिया। इंदौर में 74 मरीज मिले हैं। इसके अलावा ग्वालियर में 79, जबलपुर में 41, रीवा और राजगढ़ में 35-35 खरगोन में 25, मुरैना में 24, दमोह में 26, सतना में 27, श्योपुर में 16, छिंदवाड़ा में 19, कटनी में 19 के अलावा अन्य जिलों में भी कोरोना के केस आए हैं।
ALSO READ: Rajasthan Coronavirus Update : राजस्थान में Corona का कहर जारी, 1144 नए मरीज मिले
प्रदेश में 14 नई मौतें : कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटों में 14 नई मौतें हुई हैं। इंदौर में 2, भोपाल में 4, ग्वालियर में 1, उज्जैन में 1, जबलपुर में 1, बड़वानी में 1, धार में 1, रतलाम में 1, सीहोर में 1, होशंगाबाद में 1 और उमरिया में 1 मरीज की मौत कोरोना से हुई है। इसे मिलाकर अब तक प्रदेश में 844 लोगों की जान इस बीमारी से गई है।
 
'एक्टिव केस' में भोपाल अब इंदौर से आगे : कोरोना संक्रमण के मामलों में पिछले एक माह के दौरान काफी तेजी से वृद्धि हुई है और एक्टिव केस (अस्पताल में उपचाररत मरीज) के मामले में अब भोपाल जिला, इंदौर जिले से आगे निकल गया है। इंदौर में कोरोना के एक्टिव केस 2016 हैं, जबकि भोपाल जिले में यह 2023 हो गए हैं। हालाकि इंदौर जिले में कुल संक्रमितों की संख्या (7132) सबसे अधिक है। भोपाल दूसरे क्रम (5872) पर बना हुआ है।
ALSO READ: Uttar Pradesh Coronavirus Update : उप्र के मेडिकल कॉलेजों में 14000 corona मरीज डिस्चार्ज
इंदौर में अभी तक 4808 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं और 2016 लोगों का इलाज चल रहा है। मृतकों की संख्या भी इंदौर में सबसे अधिक 308 है। भोपाल में 3685 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और 2023 लोगों का इलाज किया जा रहा है। भोपाल में अभी तक 164 लोगों की जान जा चुकी है। इसके अलावा शेष जिलों में एक्टिव मरीजों की संख्या अधिकतम 595 ग्वालियर जिले में है। जबलपुर जिले में 323 एक्टिव केस हैं।
 
कोरोना की भावी रणनीति ‘लॉकडाउन माइनस’ हो : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना की भावी रणनीति ‘लॉकडाउन माइनस’ होना चाहिए, अर्थात ऐसी रणनीति बनाई जाए जिसमें बिना लॉक डाउन किए कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सके, हमें हमारी अर्थव्यवस्था को गतिमान भी करना है।
 
चौहान चिरायु अस्पताल से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इसके लिए हमें पूरी तरह जनता को कोविड-19 के संबंध में जागरूक करना होगा तथा सर्वोत्तम उपचार व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी। प्रदेश में जनता के स्वास्थ्य रक्षा के लिए हम हर संभव कदम उठाएंगे।
ALSO READ: Bihar Coronavirus Update : बिहार में 45 हजार के पार पहुंची संक्रमितों की संख्या, लॉकडाउन का फर्जी मैसेज वायरल
कोरोना संक्रमित कैदियों के लिए 14 जिलों में अस्थाई जेल : प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि जेलों में कोरोना संक्रमण प्रसार को रोकने के लिए कैदियों के कोरोना टेस्ट के बाद ही उन्हें जेल की बैरकों में रखा जाएगा। कोरोना संक्रमण अथवा कोरोना के लक्षण पाए जाने पर उन्हें प्रथक से तैयार की गई अस्थाई जेल में रखा जाएगा। प्रदेश में इंदौर के अतिरिक्त अन्य 13 जिलों में अस्थाई जेल बनाने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इंदौर में शासकीय पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास ग्राम असरावद खुर्द को अस्थाई जेल घोषित किया गया है।
 
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष भी कोरोना संक्रमित : मध्यप्रदेश में शीर्ष नेताओं के कोरोना वायरस कोविड 19 से संक्रमित होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। शर्मा कोरोना संबंधी दूसरी बार की जांच में संक्रमित पाए गए। पहली जांच हाल ही में कराई गई थी, जो निगेटिव आई थी। रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद उनके उपचार आदि की व्यवस्थाएं तत्काल की गईं।
 
भोपाल में आज से ‘रैपिड एंटीजन टेस्ट’ : मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच भोपाल में कोरोना मरीजों की पहचान के लिए आज से ‘रैपिड एंटीजन टेस्ट’ की व्यवस्था शुरू की जाएगी। इस टेस्ट में कोरोना की रिपोर्ट बहुत जल्दी आ जाती है, जिससे लोगों की आशंका तुरंत दूर हो जाती है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Weather update : असम-बिहार में बाढ़ से 6 की मौत, 55 लाख से अधिक प्रभावित, इडुक्की में रेड अलर्ट