Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कोविड से जंग- मई माह में रिलायंस ने 21 हजार आपात वाहनों को दिया फ्री ईंधन

webdunia
बुधवार, 2 जून 2021 (23:08 IST)
नोएडा। रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड (आरबीएमएल) ने रिलायंस फाउंडेशन के सहयोग से एक कार्यक्रम शुरू किया है, जिसके तहत देशभर में COVID आपातकालीन सेवा वाहनों को मुफ्त ईंधन उपलब्ध कराया जाएगा। अखिल भारतीय कार्यक्रम के तहत मई 2021 में कुल रुपए 7.30 करोड़ का 811.07 KL ईंधन लगभग 21,080 आपातकालीन वाहनों को वितरित किया गया।

'जियो-बीपी' बांड के अंतर्गत रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और बीपी के बीच भारतीय ईंधन और मोबिलिटी का एक जॉइंट वेंचर है। नोएडा में कंपनी के ईंधन स्टेशन शहर की सीमा के बाहर स्थित हैं, इसलिए COVID सेवाओं के लिए तैनात एंबुलेंसों के लिए इस योजना का समर्थन और विस्‍तार करने के प्रयास हेतु कंपनी ने आज एक मोबाइल फ्यूल बाउज़र का गठन किया है, जो कि सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय, सेक्टर-19, नोएडा में खड़ा किया जाएगा।

अखिल भारतीय कार्यक्रम के तहत मई 2021 में कुल रुपए 7.30 करोड़ का 811.07 KL ईंधन लगभग 21,080 आपातकालीन वाहनों को वितरित किया गया। अनुमान है कि यह कार्यक्रम 30 जून तक चलेगा (जरूरत पड़ने पर आगे बढ़ाया भी जा सकता है) तथा उम्मीद की जा रही है कि प्रतिदिन 50-60 KL मुफ्त ईंधन वितरित कराया जाएगा।
ALSO READ: Coronavirus 3rd Wave: क्या बच्चों को कोरोना से बचा सकता है फ्लू का टीका?
अपनी नवीनतम पहल के माध्यम से रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड जरूरत के इस समय में भारत का सहयोग करने के लिए बाध्य है तथा अपने संसाधनों का उपयोग स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं तथा उन लोगों का सहयोग करने के लिए देशभर में पहुंचेगा, जो हम सभी को सुरक्षित रखने के लिए चौबीसों घंटे कार्यरत हैं। महामारी के दौरान रिलायंस ने बड़े पैमाने पर बहुआयामी समर्थन प्रदान किया है तथा यह कार्यक्रम देश और नागरिकों के कल्याण के लिए समूह की प्रतिबद्धता का एक उदाहरण है।
ALSO READ: वुहान की लैब में चीनी विज्ञानियों ने ही बनाया था Coronavirus, नई रिचर्स में सनसनीखेज दावा
मोबाइल फ्यूल बाउजर को तैनात करते हुए कंपनी ने वैधानिक दिशानिर्देशों के अनुसार सभी आवश्‍यक सुरक्षा उपायों का ख्याल रखा है। इसके तहत संबंधित वैधानिक दिशानिर्देश विभाग (जिला प्रशासन/ जिला स्‍वास्‍थ्‍य प्रशासन/ जिला पुलिस प्रशासन) से एक प्राधिकरण पत्र की आवश्‍यकता होगी, जिससे बिना किसी शुल्क के ईंधन वितरित किए जाने हेतु कार्यक्रम का लाभ मिल सकेगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राजस्थान : 10वीं 12वीं की परीक्षाएं रद्द, ये राज्य भी ले सकते हैं फैसला