Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

COVID-19: UK Strain के बाद द. अफ्रीका और ब्राजील के स्ट्रेन की भी भारत में दस्तक- जानें स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसके बाद क्या दी जानकारी

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
मंगलवार, 16 फ़रवरी 2021 (20:06 IST)
नई दिल्ली। केंद्र ने मंगलवार को बताया कि जनवरी में भारत में 4 लोगों के सार्स-सीओवी-दो वायरस के दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप से संक्रमित होने का पता लगा जबकि फरवरी के पहले सप्ताह में वायरस के ब्राजीलीयाई स्वरूप से 1 व्यक्ति के संक्रमित होने की जानकारी मिली।
 
आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि भारत में बाहर से लौटे 4 लोगों के वायरस के दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। संक्रमितों में से 2 लोग दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे जबकि 1-1 व्यक्ति अंगोला और तंजानिया से लौटा था। सभी यात्रियों और उनके संपर्क में आए लोगों की जांच कर उन्हें क्वारंटाइन में रखा गया है।
उन्होंने कहा कि 'आईसीएमआर-एनआईवी' इन 4 संक्रमित लोगों के नमूनों से दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप को अलग करने और अन्य जानकारी जुटाने का प्रयास कर रहा है। फरवरी के पहले सप्ताह में ब्राजील से लौटे 1 व्यक्ति के वायरस के ब्राजीलीयाई स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।
 
कोरोना से 17 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में पिछले 1 दिन में कोई मौत नहीं : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि पिछले 24 घंटों में 17 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में कोविड-19 के कारण किसी मरीज की मौत होने की खबर नहीं है और उनमें से 6 प्रदेशों में संक्रमण का कोई नया मामला नहीं दर्ज हुआ है। आंकड़ों में कहा कि 1 दिन में 11,805 और मरीजों के स्वस्थ हो जाने से ऐसे लोगों की संख्या बढ़कर 1,06,33,025 हो गई है। भारत में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 97.32 प्रतिशत हो गई है। इस लिहाज से भारत उन देशों में शामिल है जहां यह दर सबसे अधिक है।
मंत्रालय ने रेखांकित किया कि स्वस्थ हो चुके लोगों और उपचाराधीन मरीजों के बीच का अंतर बढ़कर 1,04,96,153 हो गया है। मंत्रालय ने कहा कि एक अन्य सकारात्मक घटनाक्रम में 31 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में मरीजों के स्वस्थ होने की दर राष्ट्रीय औसत से अधिक रही है। दमन और दीव तथा दादरा और नगर हवेली में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 99.88 प्रतिशत है।
 
मंत्रालय के अनुसार 17 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना से कोई मौत नहीं हुई। इनमें लक्षद्वीप, सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, चंडीगढ़, जम्मू कश्मीर, मेघालय, लद्दाख, मणिपुर, हरियाणा, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, राजस्थान, नगालैंड, त्रिपुरा, अरुणाचल प्रदेश तथा दमन और दीव एवं दादरा और नगर हवेली शामिल हैं।
मंत्रालय ने कहा कि 6 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमण का कोई नया मामला दर्ज नहीं किया है। इनमें सिक्किम, मेघालय, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, नगालैंड, त्रिपुरा, दमन और दीव एवं दादरा और नगर हवेली शामिल हैं। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1.36 लाख रह गई है जो कुल मामलों का सिर्फ 1.25 प्रतिशत है।
 
आंकड़ों के अनुसार 16 फरवरी को सुबह 8 बजे तक देश में कोविड-19 टीका लगाने वाले स्वास्थ्य कर्मियों और अग्रिम पंक्ति के योद्धाओं की संख्या 87 लाख से अधिक हो गई है। देश में कोविड टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू किया गया था। अनंतिम रिपोर्ट के अनुसार 1,84,303 सत्रों के जरिए 87,20,822 लाभार्थियों को टीका लगाए गए हैं। इनमें स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या 61,07,120 (पहली खुराक) और 1,60,291 (दूसरी खुराक) है। इसके साथ ही अग्रिम पंक्ति के 24,53,411 योद्धाओं को (पहली खुराक) टीके लगाए गए हैं।
टीकाकरण अभियान के 31 वें दिन (15 फरवरी 2021) को कुल 4,35,527 लाभार्थियों को टीका लगाए गए। उनमें से 2,99,797 लाभार्थियों को पहली खुराक दी गई जबकि 1,35,730 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई।मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 9,121 नए मामले सामने आए जिनमें से 80.54 प्रतिशत मामले 5 राज्यों से हैं।
 

महाराष्ट्र में सबसे अधिक 3,365 नए मामले सामने आए जबकि केरल में 2,884 और तमिलनाडु में 455 नए मामले सामने आए।  मंत्रालय के अनुसार इस दौरान 81 मरीजों की मौत हुई जिनमें से 70.37 प्रतिशत मामले 5 राज्यों से हैं। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 23 लोगों की मौत हुई जबकि केरल में 13 और पंजाब में 10 मरीजों की मौत हुई। (भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
वसंत पंचमी पर प्रयागराज में 15 लाख श्रद्धालुओं ने लगाई गंगा में डुबकी