Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Zydus समूह ने कहा, सितंबर में शुरू होगी ZyCoV-D टीके की आपूर्ति

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 21 अगस्त 2021 (17:40 IST)
नई दिल्ली। दवा कंपनी जायडस कैडिला ने शनिवार को कहा कि उसे सितंबर के मध्य से अंत तक अपने कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 टीके जायकोव-डी की आपूर्ति शुरू होने की उम्मीद है। कंपनी ने बताया कि इस टीके की खुराक कीमत की घोषणा अगले एक या दो सप्ताह में करेगी।

जायडस कैडिला के स्वदेश में विकसित सूई रहित कोविड-19 रोधी टीके को भारत के औषधि महानियंत्रक ने शुक्रवार को आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। इस टीके को 12-18 साल के आयु वर्ग को दिया जा सकता है।

जायडस कैडिला के प्रबंध निदेशक शरविल पटेल ने वर्चुअल माध्यम से कहा, आपात इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिलने के बाद अब हम अपने टीके की आपूर्ति की कीमत और तरीके पर काम करने के लिए अधिकारियों के साथ मिलकर काम करेंगे। अगले एक या दो सप्ताह में हम टीके की कीमत के बारे में बता सकेंगे।

उन्होंने कहा, कंपनी को उम्मीद है कि सितंबर के मध्य से अंत तक हम टीकों की आपूर्ति शुरू कर सकते हैं। जैसा कि मैंने कहा था कि हमें उत्पादन एक करोड़ खुराक तक बढ़ाने की जरूरत है। हमें विश्वास है कि अक्टूबर तक हम इसे हासिल कर सकते हैं।
ALSO READ: महबूबा की केंद्र को चेतावनी, अमेरिका को अफगानिस्तान से भागना पड़ा, कश्मीरियों का सब्र टूटा तो तुम हार जाओगे...
उन्होंने कहा, हमें विश्वास है कि अक्टूबर तक हम एक करोड़ टीकों का उत्पादन शुरू कर देंगे और इसका मतलब है कि जनवरी के अंत तक हमारे पास 4 से 5 करोड़ टीके का उत्पादन हो सकता है। टीकों का उत्पादन बढ़ाने के लिए किसी कंपनी के साथ साझेदारी करने को लेकर पटेल ने कहा कि जायडस कैडिला सक्रिय रूप से भागीदारी के माध्यम से देश में और देश के बाहर भी उत्पादन में तेजी लाने पर विचार कर रही है।
ALSO READ: तालिबान ने भारतीयों समेत 150 लोगों का किया अपहरण, पूछताछ के बाद छोड़ा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जायडस कैडिला के कोविड टीके जायकोव-डी को भारत के औषधि महानियंत्रक से मिली आपात इस्तेमाल की मंजूरी को एक बेहद महत्वपूर्ण क्षण बताया और कहा कि विश्व के पहले डीएनए-आधारित कोविड-19 रोधी टीके को मंजूरी मिलना भारत के वैज्ञानिकों के नवोन्मेषी उत्साह का प्रमाण है।

इससे पहले देश में पांच टीकों को मंजूरी मिली है। इनमें सीरम इंस्टिट्यूट का कोविशील्ड, भारत बायोटेक का कोवैक्सीन, रूसी टीका स्पूतनिक वी तथा अमेरिका का मॉडर्ना तथा जॉनसन एंड जॉनसन का टीका शामिल है। इन टीकों में से कोविशील्ड, कोवैक्सीन एवं स्पूतनिक वी का देश में इस्तेमाल हो रहा है। इस मंजूरी के साथ जायकोव-डी छठा टीका हो जाएगा।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

महबूबा की केंद्र को चेतावनी, अमेरिका को अफगानिस्तान से भागना पड़ा, कश्मीरियों का सब्र टूटा तो तुम हार जाओगे...