पलायन का दर्द : इंदौर से 900 किमी पैदल चलकर 3 साल की बच्ची के साथ अमेठी पहुंची महिला

अवनीश कुमार

सोमवार, 11 मई 2020 (11:14 IST)
लखनऊ। कोरोना (Corona) महामारी के चलते सैकड़ों ऐसी खबरें आ रही हैं जिसमें मजदूर पैदल ही अपने घर जाने को मजबूर है। ऐसी ही एक घटना उत्तरप्रदेश के अमेठी से सामने आई है। एक महिला के पास खाने-पीने की दिक्कतें होने लगीं तो महिला को अपना घर याद आया।
 
साथ रहने वाले भाई के साथ महिला अपनी 3 साल की बेटी को लेकर मध्यप्रदेश के इंदौर से उत्तरप्रदेश के अमेठी के लिए पैदल ही निकल पड़ी। 
 
कहते हैं अगर कुछ करने के लिए ठान लिया जाए तो वह पूरा होकर रहता है और ऐसा ही इस महिला ने भी कर दिखाया। वक्त जरूर लगा अमेठी पहुंचने में लेकिन महिला अपनी बेटी व भाई के साथ उत्तरप्रदेश की अमेठी पहुंच गई। 
 
जब इसकी जानकारी अमेठी के जिलाधकारी अरुण कुमार को ही तो उन्होंने तत्काल स्वास्थ्य विभाग को महिला और उसकी बेटी के स्वास्थ्य परीक्षण का निर्देश दिया।
 
अमेठी के जगदीशपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) पर महिला और उसकी बेटी की जांच हुई। इसके बाद प्रशासन ने राशन किट, फल, मास्क और सेनिटाइजर आदि उपलब्ध कराते हुए मां-बेटी व महिला के भाई को होम क्वारंटाइन कर दिया गया।
 
मिली जानकारी के अनुसार जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र निवासी अम्तुल निशा अपनी 3 साल की बच्ची और उनका परिवार इंदौर में रहता था। लॉकडाउन के बाद अन्य लोगों की भांति वह भी फंस गए। काम बंद हो गईं। काम के अभाव में कुछ समय तक ये लोग जैसे-तैसे गुजर बसर करते रहे। जब नहीं रहा गया तब इन लोगों ने इंदौर से अमेठी लगभग 900 किलोमीटर की यात्रा पैदल करने की ठानी।
 
5 अप्रैल को अपने भाई और 3 वर्ष की छोटी बच्ची के साथ सामान लेकर इंदौर से पैदल निकल पड़े और रविवार देर रात उत्तर प्रदेश के अमेठी अपने घर पहुंच गए। लेकिन जब इसकी जानकारी सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को मिली तो उन्होंने तत्काल इसकी सूचना जिला प्रशासन को देते हुए कहा कि परिवार की सुविधाओं का खयाल रखा जाए और राशन का इंतजाम कराया जाए।
 
इसके बाद प्रशासन ने मां और बेटी का स्वास्थ्य परीक्षण कराकर उन्हें राशन आदि जरूरी सामान उपलब्ध कराया और महिला को बच्ची व भाई के साथ होम क्वारंटाइन किया गया है।

जिलाधिकारी ने बताया कि सांसद महोदया के निर्देशन मे इंदौर से अमेठी 900 किलोमीटर अपनी 3 वर्ष की बेटी के साथ पैदल चलकर पहुंची अम्तुल निशा पुत्री जुम्मनअली खां निवासी ग्राम बड़ौली का जगदीशपुर में मेडिकल परीक्षण व मास्क, सेनिटाइजर, राशन किट, फल आदि उपलब्ध कराते हुए होम क्वारंटाइन कराया गया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख देश में नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार, मुख्यमंत्रियों के साथ PM मोदी की 5वीं बैठक, हो सकता है बड़ा फैसला