मध्यप्रदेश स्थापना दिवस : एमपी अजब है सबसे गजब है

1 नवंबर मध्य प्रदेश का स्थापना दिवस है। दुनिया के सबसे बेहतरीन पर्यटक स्थलों के मामले में भारत का दिल कहा जाने वाला राज्य मध्यप्रदेश दुनियाभर में तीसरे स्थान पर है। ट्रैवल मीडिया कंपनी 'लोनली प्लैनेट' द्वारा जारी रिपोर्ट में ये मध्यप्रदेश को यह जगह मिली है। यह रिपोर्ट 2020 के लिए दुनिया के बेहतरीन पर्यटक स्थलों के सर्वेक्षण के आधार पर जारी की गई है।
 
 
मध्यप्रदेश में क्या नहीं है? यहां आप बहुत ही रोचक और रोमांचक वन्यजीव देख सकते हैं और ऐतिहासिक धरोहर के मामले में भी मध्यप्रदेश देश में नंबर वन पर है। यहां देश के अन्य राज्यों की अपेक्षा ज्यादा तीर्थ स्थल है। 12 में से 2 ज्योतिर्लिंग है एक ओंकारेश्वर में और दूसरा उज्जैन में। यहां भवन निर्माण कला के प्राचीन नमूने भी देखे जा सकते हैं।
 
ALSO READ: मध्यप्रदेश पर निबंध
संपूर्ण मध्यप्रदेश के हृदय में बहती नर्मदा घाटी को दुनिया की सबसे प्राचीन नदी और घाटी का खिताब मिला हुआ है। नर्मदा घाटी में डायनासोर के अंडे मिलना इस बाद का सबूत है। दूसरी और मध्‍यप्रदेश ही एक मात्र ऐसा राज्य है जहां खाने की वैरायटी गिनते गिनते आप थक जाएंगे।
 
 
1.भोपाल का तालाब : मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे पुराना तालाब है जिसे मान निर्मित उप्पेर झील कहा जाता है। कोलंस नदी के ऊपर बने बांध के नजदीक बनी ये झील भारत की कुछ चुनिंदा सुंदर झीलों में से एक है।
 
2.मध्यप्रदेश के जंगल : मध्यप्रदेश में बहुत सारे जंगल है जिनमें आप जंगली जीवों को करीब से देख सकते हैं। इसमें कान्हा नेशनल पार्क और बांधवगढ़ नेशनल पार्क अपने बढ़ते हुए टाइगर के कारण ज्यादा मशहूर हैं।
 
3.भेड़ा घाट : जबलपुर के पास भेड़ा घाट को देखना बहुत ही अद्भुत है। 8 किमी के एरिया में फैले सफेद संगमरमर के पहाड़ों को जब आप करीब से देखते हैं तो आंखों को इस अद्भुत नजारे पर यकीन ही नहीं होता है। दोनों ओर दो सफेद पहाड़ों के बीच से नर्मदा बहती है जहां एक बहुत ही सुंदर जल प्रपात है जिसे देखना गजब है।
 
4.खजुराहो : यूनेस्को की विश्व विरासत में शामिल ये खजुराहो के मंदिर मंदिरों और किलों की दीवारों पर अनेक स्त्री एवं पुरुष की मूर्ति विभिन्न भावभंगिमाओं में उकेरी गई हैं जिसे देखना बहुत ही अजब है।
 
 
5.अवंतिका : आपने कृष्ण की जन्म नगरी मथुरा तो देखी होगी लेकिन यदि कृष्ण की शिक्षा स्थली देखना हो तो आइये अवंतिका अर्थात उज्जैन में। यह महान राजा विक्रमादित्य और राजा भोज की नगरी है। कृष्ण की एक पत्नी  मित्रविंदा यहीं की रहने वाली थीं। सबसे बड़ी बात तो यह कि यह बाबा महाकाल की नगरी है जहां साक्षात माता हरसिद्धि, कालभैरव और कालिका विराजमान है। इसके अलावा बहुत कम लोग जानते हैं कि यहां गुरु गोरखनाथ के गुरु मत्स्येंद्रनाथ का समाधी स्थल भी है।
mptourism.com
6. पचमढ़ी : इसे मध्यप्रदेश का कश्मीर, कुल्लू या मनाली कहा जाता है। पचमढ़ी की प्राकृतिक सुंदरता बस देखते ही बनती है। यहां के सनसेट पॉइंट पर सूरज को डूबते हुए देखने के लिए कई पर्यटक दूर-दूर से यहां आते हैं। यहां कई तरह के वॉटर फाल हैं।
 
7.मांडू : मांडू की प्राकृतिक सुंदरता तो अनोखी है ही साथ ही यहां जहाज महल, हिंडोला महल, रानी रूपमति का महल, जामी मस्जिद जैसे ऐतिहासिक स्थान मौजूद हैं।
 
8.शिवपुरी और ओरछा : ग्वालियर से एक घंटे की दूरी पर है ओरछा। पर्यटक यहां पर पुराने मंदिर, जाहांगीर महल और शीश महल जैसी ऐतिहासिक जगहों को देख सकते हैं। इस तरह शिवपुरी और भोजपुर में भी आप प्राचीनकाल के शिव मंदिर, किला, जल प्रपात और अन्य स्मारक देख सकते हैं।
 
9.चित्रकूट : सतना जिले में स्थित चित्रकूट एक प्रसिद्ध, ऐतिहासिक और प्राचीन स्थल है जहां भगवान राम रुके थे और भारत उनसे मिलने यहां आए थे। यहां का जल प्रपात भी प्रसिद्ध है।
 
10.सांची : रायसेन जिले में बेतवा नदी के तट पर स्थित है सांची। मध्यप्रदेश में सांची के स्तूप विश्‍वभर में प्रसिद्ध है। यह कभी बौद्ध धर्म का केंद्र हुआ करता था। यहां तीन बौद्ध स्तूप है। इसी तरह विदिशा में भी सम्राट अशोक द्वारा निर्मित अनेक मंदिर और बौद्ध स्तूप हैं। 
 
11.बावनगजा : यह क्षेत्र बड़वानी जिले के अंजड़ के पास स्थित है। यह प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल है जहां 72 फीट ऊंची जैन प्रतिमा को देखने के लिए विश्वभर से लोग आते हैं।
 
12. किले : यदि आप मध्यप्रदेश में किला देखना चाहते हैं तो ग्वालियर, शिवपुरी, महेश्‍वर और गिन्नौरगढ़ जाएं।
 
13.मंदसौर : मध्यप्रदेश के मंदसौर में पशुपतिनाथ मंदिर बहुत ही प्रसिद्ध है। इसी नाम से दूसरा मंदिर नेपाल में है।
 
14.ओंकारेश्वर, महेश्वर और मंडलेश्वर : यह तीनों की तीर्थ स्थल पास पास है और नर्मदा नदी के तट पर स्थित हैं। ओमकारेश्वर में जहां 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है वहीं महेश्वर और मंडलेश्वर एक प्राचीन और पौराणिक नगर है।
 
15.भीमबेटका : यूं तो मध्यप्रदेश में कई प्राचीन गुफाएं हैं लेकिन भीमबेटका की गुफाएं ज्यादा प्रसिद्ध हैं। कहते हैं कि यहां पर जो चित्रकारी की गई है वह 30 हजार वर्ष से भी पुरानी है। भीमबेटका रॉक शेल्टर एक पुरातात्विक स्थल है जो भारतीय उपमहाद्वीप पर मानव जीवन के शुरुआती निशानों को दिखाता है। यहां पर 500 से अधिक रॉक शेल्टर और गुफाएं है जिनमें बड़ी संख्या में पेंटिंग हैं।
 
16.अमरकंटक : यह स्थान भी पचमढ़ी की ही तरह एक हिल स्टेशन है लेकिन यह एक तीर्थ स्थल भी है। यहां से नर्मदा नदी का उद्गम होता है। होशंगाबाद के आगे स्थित अमरकंटक एक पौराणिक स्थल है। अमरकंटक के घने जंगलों में औषधीय गुणों से भरपूर पौधे हैं, जो इसे पारिस्थितिक रूप से महत्वपूर्ण बनाते हैं।
 
इसके अलावा भी मध्यप्रदे में घुमने के लिए कई पर्यटन स्थल है। जैसे इंदौर, देवास, विदिशा और धार आदि।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख गुजरात में एक केंद्र शासित प्रदेश का शोर क्यों?