Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भारत जोड़ो यात्रा में सावरकर पर क्यों हमलावर हुए राहुल गांधी?

हमें फॉलो करें webdunia
webdunia

विकास सिंह

शुक्रवार, 18 नवंबर 2022 (13:20 IST)
गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी को लेकर मोदी सरकार की नीतियों को कठघरे में रखने के उद्देश्य से शुरु की गई राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के केंद्र में अचानक से हिंदुत्व का मुद्दा आ गया है। भारत जोड़ो यात्रा जो इन दिनों महाराष्ट्र में और राहुल गांधी ने वीर दमोदर सावरकर के अग्रेजों से माफीनामे को उठाकर अचानक से हिंदुत्व को एक बार राजनीतिक एजेंडे के केंद्र में ला दिया है।

महाराष्ट्र के अकोला में मीडिया से बात करते हुए राहुल गांधी ने वीडी सावरकर के ‘माफीनामे’ की चिट्ठी को दिखाते हुए दावा किया कि सावरकर ने अंग्रेजों की मदद की। राहुल गांधी ने कहा कि वीडी सावरकर ने अंग्रेजों को चिट्ठी लिखकर कहा ‘सर, मैं आपका नौकर रहना चाहता हूं’। राहुल गांधी ने यह दावा भी किया कि जब सावरकर जी ने माफीनामे पर हस्ताक्षर किए तो उसका कारण डर था। अगर वह डरते नहीं तो वह कभी हस्ताक्षर नहीं करते। इससे उन्होंने महात्मा गांधी और उस वक्त के नेताओं के साथ धोखा किया। उन्होंने कहा कि देश में एक तरफ महात्मा गांधी की विचारधारा है और दूसरी सावरकर से जुड़ी विचारधारा है।

राहुल गांधी के खिलाफ केस दर्ज-राहुल गांधी के वीडी सावरकर पर दिए बयान के बाद भाजपा और आरएसएस राहुल गांधी पर हमलावर है। वहीं राहुल गांधी के खिलाफ एफआईआर करने को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है। विनायक दामोदर सावरकर के पोते रंजीत सावरकर ने राहुल गांधी के खिलाफ मुंबई के शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। वहीं ठाणे में राहुल गांधी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। मुंबई में भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता राहुल गांधी से माफी की मांग को लेकर सड़क पर उतर आए है।

महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी में दरार-महाराष्ट्र में राहुल के सावरकर पर दिए बयान के बाद राज्य में कांग्रेस अलग-थलग पड़ती हुई दिखाई दे रही है। राहुल के बयान से उद्धव ठाकरे और शरद पवार ने किनारा कस लिया है। महाराष्ट्र में कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी वाले महाविकास अघाड़ी गठबंधन में राहुल के बयान के बाद दरार साफ नजर आ रही है। पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राहुल गांधी के बयान से किनारा करते हुए कहा कि पार्टी सावरकर का बहुत सम्मान करती है और वह राहुल गांधी की सावरकर पर की गई टिप्पणी से सहमत नहीं हैं।

वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि राहुल गांधी को वीर सावरकर का मुद्दा उठाने की जरूरत नहीं थी, राहुल गांधी के इस बयान से महाविकास अघाड़ी में दरार पड़ सकती है। संजय राउत ने कहा कि राहुल के बयान से महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता भी सहमत नहीं है। महाराष्ट्र में जहां एकनाथ शिंदे हिंदुत्व के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे पर समझौता करने पर लंबे समय से कठघरे में खड़ी करती आई है। 

राहुल ने सावरकर की माफीनामे का मुद्दा क्यों उठाया?–कन्याकुमारी से शुरु हुई भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी ने पहली वीडी सावरकर की माफीनामे का मुद्दा उठाकर हिंदुत्व के मुद्दें पर आरएसएस और भाजपा को घेरा है। दरअसल सावरकर के बाहने राहुल गांधी ने एक बार फिर कांग्रेस के एंटी हिदुंत्व के एजेंडे को नए सिरे से खड़ा करने की कोशिश की है।

राहुल गांधी ने सावरकर के माफीनामे का मुद्दा उठाते हुए भाजपा के साथ आरएसएस को घेरते हुए कहा कि आज देश की संस्थाओं पर आरएसएस ने कब्जा कर लिया है और देश में  डर और नफरत का माहौल फैलाया गया है। राहुल गांधी ने कहा कि भारत में पिछले आठ साल से डर का माहौल है। नफरत और हिंसा फैलाई जा रही है। इस माहौल के खिलाफ खड़े होने के लिए भारत जोड़ो यात्रा शुरू की गई है।

गौर करने वाली बात यह है कि राहुल गांधी ने वीडी सावरकर पर उस महाराष्ट्र में हमला बोला जो आरएसएस का गढ़ है और इसी महाराष्ट्र के नागपुर में आरएसएस का मुख्यालय है। ऐसे में जब आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत कह चुके है कि वीर सावरकर को बदनाम करने एक मुहिम चली जब राहुल गांधी ने सावरकर का मुद्दा उठाकर फिर सीधे संघ को चुनौती दी है।

महाराष्ट्र में जहां भाजपा हिंदुत्व के एजेंडे को लेकर सबसे ज्यादा मुखर है और सावरकर भाजपा के हिंदुत्व के एजेंडे के मुख्य केंद्र में है। महाराष्ट्र में वीर सावरकर हिंदुत्व का एक बड़ा चेहरा है। ऐसे में राहुल गांधी ने वीर सावरकर की माफी का मुद्दा उठाकर भाजपा के साथ-साथ सीधे आरएसएस को घेर लिया है। राहुल ने वीडी सावरकर के माफीनामे का मुद्दा उठाकर महाराष्ट्र में कांग्रेस के उस कट्टर हिंदुत्व विरोधी एजेंडे को नई ऊर्जा दे दी है, जिसके सहारे कांग्रेस अपनी सियासी जमीन तलाशने की कोशिश कर रही है।

दक्षिण भारत से शुरु हुई भारत जोड़ो यात्रा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना होते महाराष्ट्र से उत्तर भारत में अपनी यात्रा का आगाज किया है। उत्तर भारत में कांग्रेस पिछले लंबे समय से कट्टर हिंदुत्व के मुद्दें पर भाजपा को घेरती आई है। ऐसे में अब जब यात्रा महाराष्ट्र के बाद मध्यप्रदेश और राजस्थान आएगी वहां कट्टर हिंदुत्व के मुद्दें पर राहुल भाजपा को घेरने की कोशिश करेंगे। मध्यप्रदेश और राजस्थान जहां अगले साल विधानसभा चुनाव होने है ऐसे राहुल गांधी ने हिंदुत्व का मुद्दा उठाकर कांग्रेस के एजेंडे को नई ताकत दे दी है।     

वहीं राहुल गांधी के सावरकर पर दिए बयान को अब भाजपा ने गुजरात विधानसभा चुनाव में भी मुददा बना लिया
है। गुजरात विधानसभा के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस शहीदों का अपमान करती है। कांग्रेस की सरकार रही तो हमें यही पढ़ाया गया देश को आजादी नेहरू जी ने दिलाई और किसी को याद ही नहीं करते थे। राहुल गांधी ने स्वतंत्र वीर सावरकर का अपमान किया है। जिन्हें कालापानी मे 2 जन्म की सजा मिली थी, जिन्होंने काला पानी की सजा काटी,  देश के लिए सब कुछ लुटा दिया, ऐसे स्वतंत्र वीर सावरकर का तुम अपमान करते हो राहुल गांधी, कांग्रेसियों, ये देश तुम्हें कभी माफ नहीं करेगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

युवा कवि अदनान कफील ने ‘साहित्‍य आजतक’ में जाने से किया इनकार, दो खेमों में बंटा साहित्‍य जगत, सोशल मीडिया में छिड़ी बहस