Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Live Updates : किसानों और सरकार के बीच 8वें दौर की बातचीत

webdunia
शुक्रवार, 8 जनवरी 2021 (14:54 IST)
नई दिल्ली। 3 नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की आज सरकार के साथ 8वें दौर की बैठक होने जा रही है। फिलहाल दोनों ही पक्ष अपनी बातों पर अड़े हुए हैं। किसान आंदोलन से जुड़ी हर जानकारी...


06:13 PM, 8th Jan
-किसान यूनियन नेता जोगिन्दर सिंह उग्राहां किसान और सरकार के बीच की बैठक बेनतीजा रही, हम कानूनों को वापस लिए जाने से कम कुछ नहीं चाहते।
 
-किसान नेता हन्नान मौला ने कहा कि किसान अंतिम सांस तक लड़ने को तैयार, अदालत जाना कोई विकल्प नहीं, किसान संगठन 11 जनवरी को करेंगे आगे की कार्रवाई पर निर्णय।
 
-किसान नेताओं ने कहा- सरकार हमारी ताकत की परीक्षा ले रही है, हम झुकेंगे नहीं, ऐसा लगता है कि हम लोहड़ी, बैसाखी उत्सव यहीं मानएंगे।

03:56 PM, 8th Jan
-कृषि कानूनों पर जारी गतिरोध को दूर करने के लिए प्रदर्शनकारी किसान संगठनों और तीन केंद्रीय मंत्रियों के बीच आठवें दौर की वार्ता जारी।
-केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, रेलवे, वाणिज्य एवं खाद्य मंत्री पीयूष गोयल और वाणिज्य राज्य मंत्री तथा पंजाब से सांसद सोम प्रकाश करीब 40 किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ विज्ञान भवन में वार्ता कर रहे हैं।

02:57 PM, 8th Jan
-कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को कहा कि तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लिया जाना ही इस मुद्दे का समाधान है क्योंकि इसके अलावा कोई दूसरा समाधान नहीं है।
-उन्होंने पंजाब के उन कांग्रेस सांसदों से मुलाकात के दौरान यह टिप्पणी की जो केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध और प्रदर्शनकारी किसानों के समर्थन में पिछले एक महीने से जंतर-मंतर पर खुले आसामान के नीचे धरने पर बैठे हुए हैं।
-गुरजीत सिंह औजला, रवनीत बिट्टू, जसबीर गिल और कई अन्य सांसदों ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास 12, तुगलक लेन पहुंचकर प्रियंका से मुलाकात की।
-सांसदों से मुलाकात के दौरान प्रियंका ने कहा, 'हम बिल्कुल पीछे नहीं हटेंगे। हम किसानों के साथ हमेशा रहे हैं। समाधान यही है कि कानून वापस लिए जाएं। इसके अलावा कोई और समाधान नहीं है।'

02:47 PM, 8th Jan
-सरकार और किसान संगठनों की बैठक शुरू।

02:19 PM, 8th Jan
-सभी किसान नेता और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, नरेंद्र सिंह तोमर विज्ञान भवन पहुंच गए हैं। कुछ ही देर में शुरू होगी आठवें दौर की बातचीत।
-विज्ञान भवन में किसानों से बातचीत से पहले कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गोयल ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से उनके घर पर मुलाकात की।
 

12:56 PM, 8th Jan
-कांग्रेस ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में शुक्रवार को सोशल मीडिया अभियान चलाया जिसके तहत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने लोगों से किसान आंदोलन के पक्ष में आवाज बुलंद करने की अपील की।
-पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘किसान के लिए भारत बोले’ अभियान के तहत वीडियो जारी किया।
-उन्होंने कहा, 'शांतिपूर्ण आंदोलन लोकतंत्र का एक अभिन्न हिस्सा होता है। हमारे किसान बहन-भाई जो आंदोलन कर रहे हैं, उसे देश भर से समर्थन मिल रहा है। आप भी उनके समर्थन में अपनी आवाज़ जोड़कर इस संघर्ष को बुलंद कीजिए ताकि कृषि-विरोधी क़ानून ख़त्म हों।'

12:16 PM, 8th Jan
-केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा, पहले कि वार्ता में किसान यूनियन के नेताओं का विषय था कि हम इसमें सुधार चाहते हैं। सरकार सुधार के लिए तैयार है। मुझे विश्वास है कि आज की वार्ता में वे इस बात को समझेंगे। किसान यूनियन के नेता सोचकर आएंगे कि समाधान करना है तो समाधान अवश्य होगा।

12:09 PM, 8th Jan
-सिंघु बॉर्डर से बस में विज्ञान भवन के लिए रवाना हुए किसान नेता, दोपहर 2 बजे शुरू होगी बैठक।

11:43 AM, 8th Jan
-यातायात पुलिस ने मंगलवार को सिलसिलेवार ट्वीट में बताया कि सिंघू, औचंदी, प्याऊ मनियारी, सबोली और मंगेश बॉर्डर बंद हैं।
-लामपुर, सफियाबाद, पल्ला और सिंघू स्कूल टोल टैक्स बार्डर से होकर निकला जा सकता है। मुकरबा और जीटेके रोड पर भी यातायात परिवर्तित किया गया है। आउटर रिंग रोड, जीटीके रोड और एनएच-44 पर जाने से भी बचें।
-चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर नोएडा तथा गाजीपुर से दिल्ली आने वाले लोगों के लिए बंद है। कृपया आनंद विहार, डीएनडी, अप्सरा, भोपुरा और लोनी बॉर्डर से होकर दिल्ली आएं। टिकरी, ढांसा बॉर्डर पर यातायात पूरी तरह बंद है।

11:43 AM, 8th Jan
-किसानों ने केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ गुरुवार को प्रदर्शन स्थल-सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर और हरियाणा के रेवासन में ट्रैक्टर रैली निकाली थी।
-प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने कहा कि 26 जनवरी को हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से राष्ट्रीय राजधानी में आने वाले ट्रैक्टरों की प्रस्तावित परेड से पहले यह महज एक ‘‘रिहर्सल’’ है।

11:25 AM, 8th Jan
-नानकसर सम्प्रदाय के जुड़े बाबा लक्खा सिंह ने केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से मुलाकात की। किसानों और सरकार के बीच मध्यस्थता के लिए उन्होंने कृषि मंत्री को प्रस्ताव दिया।
-एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए बाबा लक्खा सिंह ने दावा किया कि केंद्रीय कृषि मंत्री उनसे बातचीत के दौरान रो पड़े।
 

07:54 AM, 8th Jan
-किसान नेता शिव कुमार कक्का ने समाचार एजेंसी भाषा से कहा, 'मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि संयुक्त किसान मोर्चा को तीन कृषि कानूनों से राज्यों को बाहर निकलने की अनुमति देने का कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। हम इन कानूनों रद्द किए जाने और हमारी फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी से कम कुछ भी स्वीकार नहीं करेंगे।'
-उन्होंने कहा कि यदि यह (प्रस्ताव) सही बात है तेा यह सरकार की ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति है।
-भारतीय किसान यूनियन (एकता उग्राहण) प्रमुख जोगिंदर सिंह ने भी सरकार से इस प्रकार का कोई प्रस्ताव मिलने की बात से इनकार किया है।
-स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव ने फेसबुक के जरिए संवाद के दौरान सरकार पर अफवाह फैलाने का आरोप लगाया।

07:29 AM, 8th Jan
-आज दोपहर 2 बजे विज्ञान भवन में होगी बैठक।
-दोनों ही पक्षों को उम्मीद है कि आज की बैठक में गतिरोध का हल निकलेगा 
-सरकार ने 30 दिसंबर को 6ठे दौर की वार्ता में किसानों की बिजली सब्सिडी और पराली जलाने संबंधी 2 मांगों को मान लिया था।
-4 जनवरी को हुई 7वें दौर की बातचीत बेनतीजा रही थी। 

07:29 AM, 8th Jan
-आठवें दौर की बातचीत से पहले कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का बयान, कृषि कानून वापस लेने के अलावा सभी प्रस्ताव पर विचार को तैयार
-तोमर ने कहा कि वह अभी नहीं कह सकते हैं कि आठ जनवरी को विज्ञान भवन में दोपहर दो बजे 40 प्रदर्शनकारी किसान संगठनों के नेताओं के साथ होने वाली बैठक का क्या नतीजा निकलेगा।
-आंदोलनरत किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से वार्ता का सरकार की ओर से कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, खाद्य मंत्री पीयूष गोयल और वाणिज्य राज्यमंत्री सोम प्रकाश नेतृत्व कर रहे हैं। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Fact Check: क्या पुरुषों को पेनिस में लगेगा COVID Vaccine? जानिए पूरा सच