दद्दू का दरबार : वे चार लोग

दद्दूजी, बचपन से ही मैं सभी से सुनता चला आ रहा हूं कि 'चार लोग सुनेंगे/ देखेंगे तो क्या कहेंगे?' आखिर कौन हैं ये 'चार लोग'?, जो दूसरों की जिंदगी में हस्तक्षेप करते रहते हैं?
 
 
उत्तर : ये चार लोग आपके बेहद निकट तथा शुभचिंतक होते हैं। ये ही आपको आपके जीवन की अंतिम यात्रा में अपने कंधों पर उठाकर ले जाते हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बॉडीगार्ड्स के बिना साइकिल चलाकर Bigg Boss 13 के सेट पर पहुंचे सलमान खान, वीडियो वायरल