दद्दू का दरबार : देश की सेना मोदी जी की

प्रश्न : दद्दू जी, भारतीय सेना को मोदी जी की सेना कहकर फंसे मुख्यमंत्री योगी, चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट। आप क्या कहेंगे इस बारे में?
 
 
उत्तर : वैसे तो सेनाएं अपने देश की होती हैं पर इतिहास को देखें तो सेनाएं राजाओं की भी कहलाती रही है। जैसे कि वीर शिवाजी की सेना, वीर महाराणा प्रताप की सेना आदि। लोकतांत्रिक रूप से चुने गए तथा प्रधानमंत्री पद पर आसीन नेता स्वयं को देश का राजा तथा सेना को अपना न मान बैठें इसीलिए राष्ट्र प्रमुख के रूप में राष्ट्रपति का पद रखा गया है और वही देश की सेनाओं के तीनों अंगों का प्रमुख होता है। सेना उसकी अवश्य कही जा सकती हैं। हां भविष्य में मोदी जी कभी देश के राष्ट्रपति बने तो अवश्य सेना उनकी हो सकती है।   

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख दद्दू का दरबार : सवारी दो नावों की