Devi Katyayani को प्रिय है शहद का भोग, जानिए इसके 10 बेमिसाल सेहत फायदे

नवरात्रि में देवी मां का छठा स्वरूप है 'कात्यायनी देवी' इन्हें शहद का भोग अत्यंत प्रिय है इसलिए इस दिन शहद का प्रसाद चढ़ाया जाता है। आइए, जानते हैं इस प्रसाद (शहद) से सेहत को मिलने वाले 10 बेमिसाल फायदे -
 
1 शहद में एलर्जी से लड़ने का गुण होता है जिससे आपको इस समस्या से बचने में सहायता मिलती है। इसके अलावा यह किसी भी प्रकार के इंफेक्शन को दूर करने में मददगार होता है।  यही वजह है कि गले या श्वासनली के इंफेक्शन में शहद आराम देता है।
 
2 शहद एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह काम करता है, जो कि‍सी घाव या अन्य समस्या में जीवाणुओं को फैलने से रोकता है और यह शरीर के अंदर और बाहर एक ही तरह से काम करता है। चोट पर शहद लगाने से जल्दी ठीक होता है, क्योंकि शहद उसे सड़न से बचाता है।

ALSO READ: Navratri व्रत में जी भरकर खाएं मखाने, होंगे गजब के 5 सेहत फायदे
 
3 वजन घटाने के लिए शहद एक बेहतरीन उपाय है। इसे गरम पानी के साथ नींबू डालकर पीने से शरीर में चुस्ती बनी रहती है, और गरम पानी की मदद से वसा को कम करने में मदद मिलती है। इस तरह से शहद तेजी से वजन घटाने में सहायक है।
 
4 उर्जा के एक अच्छे स्त्रोत के तौर पर शहद का इसतेमाल करना फायदेमंद साबित होता है। यह शरीर को कार्बोहाइड्रेट और प्राकृतिक शर्करा फ्रक्टोज और ग्लूकोज प्रदान करता है जो सीधे खून में पहुंचकर ऊर्जा में बदलता है। 
 
5 त्वचा के विकारों को दूर कर शहद त्वचा में कसाव लाने में मदद करता है। यह त्वचा के लिए आवश्यक पोषण भी प्रदान करता है, जो उसे स्वस्थ और खूबसूरत बनाए रखता है।

ALSO READ: Navratri health tips : नवरात्रि में व्रत के दौरान रखें Health का भी ख्याल, 5 Tips जरूर जानें
 
6 खांसी होने पर काली मिर्च या लौंग के चूर्ण या फिर तुलसी के रस के साथ शहद का प्रयोग करने से फायदा होता है। इसके अलावा सर्दी जुकाम जैसी समस्याओं में भी शहद बेहद लाभदायक होता है। गर्म प्रकृति का होने के कारण यह कफ को जमने से रोकता है। 
 
7 शहद में काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो मस्तिष्क की कोशिकाओं पोषि‍त कर नुकसान से बचाते हैं। एक शोध के अनुसार शहद शरीर की कैल्शियम सोखने की क्षमता को बढ़ाता है और दिमागी कोशिकाओं के लिए भी यह जरूरी है।
 
8 शहद एक बेहतर मूड बूस्टर की तरह भी प्रयोग किया जा सकता है। चीनी की तरह शहद भी इंसुलिन को बढ़ाता है जिससे सेरोटोनिन का स्त्राव होता है। सेरोटोनिन मूड को बेहतर बनाकर खुशी का अहसास कराता है।

ALSO READ: Shardiya Navratri 2019 : नवरात्रि के 9 दिन इन 9 रंगों से करें पूजन, मां दुर्गा होंगी प्रसन्न
 
9 नींद नहीं आने या कम की समस्या का समाधान भी शहद में समाहित है क्योंकि इससे बढ़े इंसुलिन से स्त्रावित होने वाला हार्मोन सेरोटोनिन, मेलैटोनिन में बदलता है, जो नींद की अवधि और उसकी क्वालिटी तय करता है।
 
10 बालों को खूबसूरत बनाने के लिए भी शहद एक कारगर उपाय है। इसे गुनगुने पानी के साथ मिलाकर सिर पर लगाने और कुछ समय बाद धो लेने से बालों की क्वालिटी बेहतर होती है, और सिर की समस्याओं में भी आराम मिलता है।
 
नोट : शहद की प्रकृति गर्म होती है, इसलिए इसे चालीस डिग्री से अधिक गर्म भी नहीं करना चाहिए। और गर्म तासीर के लोगों को इसके अत्यधिक प्रयोग से बचना चाहिए।
 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Navratri Seventh Day Kalratri Devi : मां दुर्गा की सातवीं शक्ति है कालरात्रि, पढ़ें देवी का मंत्र और कथा