Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Health Care : पानी पीने से होते हैं ये 9 फायदे, जरूर जानिए

webdunia
1 पहली बात तो यह, कि पानी पीने का एक सबसे अच्छा फायदा आप सभी जानते ही होंगे कि सिर्फ पानी पीने से आप न केवल अपना वजन तेजी से घटा सकते हैं, लेकि‍न आप यह नहीं जानते कि सिर्फ 9 दिनों में आप यह कमाल कर सकते हैं। आप इतना वजन घटा सकते हैं, जितनी कैलोरी रोजाना 8 किमी की जॉगिंग के बाद कम होती है।
 
2 आपका मेटाबॉलिज्म तेज होगा और ऊर्जा का स्तर भी आश्चर्यजनक रूप से बढ़ेगा जिससे आप चुस्त फुर्तीले रह सकेंगे। खास तौस से सुबह के वक्त पानी की अच्छी मात्रा आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाती है।
 
3 आपका दिमाग बेहतर तरीके से काम करेगा और आप मस्तिष्क की ऊर्जा और क्षमताओं को बढ़ता हुआ महसूस करेंगे। क्योंकि मस्तिष्क का 75 से 85 प्रतिशत भाग में पानी होता है। अत: आप अधिक से अधिक पानी पीकर उसे शक्ति प्रदान करते हैं और अपनी एकाग्रता को बढ़ाते हैं।
 
4 आप कम खाते हैं, अर्थात ओवर ईटिंग से बच जाते हैं और पानी के कारण पेट भरा हुआ लगता है, जो आपको ज्यादा न खाने के लिए प्रेरित करता है। इस प्रकार आप अपना वजन भी आसानी से कम कर सकते हैं।
 
5 जब शरीर में पानी का स्तर बेहतर होता है, तो तरलता के कारण आपका शरीर हानिकारक, विषैले तत्वों को आसानी से शरीर से बाहर कर पाता है और आपकी उम्र और स्वास्थ्य पर इसका असर नजर आता है।
 
6 पानी पीते रहना, कई प्रकार की बीमारियों से बचाए रखने का एक बढ़िया उपाय है। खास तौर से हाइपरटेंशन, किडनी संबंधी समस्याएं, मूत्राशय की बीमारियां और आंतों का कैंसर आदि की संभावना नहीं होती।
 
7 आपका हृदय बेहतर तरीके से काम करता है, अगर आपके शरीर में पानी की मात्रा अधिक या सही स्तर पर होती है। दिनभर में कम से कम 5 ग्लास पानी हार्ट अटैक की संभावना को 41 प्रतिशत तक कम करता है।
 
8 आपकी त्वचा की खूबसूरती में तो पानी पीने की यह आदत चार चांद लगा सकती है। आपकी त्वचा नर्म, मुलायम, साफ, बेदाग और तेल रहित बनी रहेगी।
 
9 और हां, आपके पैसे बचेंगे सो अलग। क्योंकि आप जिन पसंदीदा पेय पदार्थों को पीने के लिए पैसे खर्च करते हैं, उसकी जगह पानी आपको आसानी से और सस्ते में और कई बार निशुल्क उपलब्ध हो जाता है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Story of Devi Chandraghanta : नवरात्रि की तीसरी देवी चंद्रघंटा की पावन कथा