Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

स्तन कैंसर का खतरा कम करता है पाइनेपल, पढ़ें 10 लाभ

हमें फॉलो करें webdunia
महिलाओं को पाइनेपल खाने के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। इसमें तांबा, मैग्नीशियम, कैल्शियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस जैसे खनिज, विटामिन और ब्रोमेलैन की तरह आवश्यक एंजाइम होते हैं।
 
स्तन कैंसर को रोकता है 
अनन्नास में ब्रोमेलैन एंजाइम होता है जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। वह स्तनों का कैंसर होने का खतरा कम करता है। कैंसर के उपचार से शरीर की हुई हानि को भी अनन्नास कम करता है... लेकिन इस पर और अनुसंधान होना जरुरी है। 
 
मूत्रमार्ग के संक्रमण
तांबा, मैग्नीशियम, कैल्शियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस जैसे खनिज महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होते हैं। नियमित रूप से अनन्नास का रस पीने से मूत्रमार्ग के संक्रमण दूर होते हैं। 
 
पाचन
अनन्नास में तंतु होते हैं जो स्वास्थ्य के कई समस्याओं के इलाज में इस्तेमाल होता है। इससे पाचन सुलभ होता है। 
 
सूजन कम करता है
पाइनेपल के ताजे रस में ब्रोमेलैन एंजाइम होता है जो शरीर की प्रतिकारक शक्ति बढाता है और सूजन कम करता है। सूजन कम होने से गठिया और जोड़ों का दर्द कम होता है। 
 
आंख 
बढती उम्र के साथ दृष्टिपटल को हानि होती है जिससे दृष्टि जाने की संभावना होती है। यह रोकने के लिए पाइनेपल का रस रोज पिएं। इसमें विटामिन बीटा केरोटिन होता है जो दृष्टि के लिए अच्छा होता है। 
 
सायनस और सूजन का उपचार
पाइनेपल का रस पीने से गले की खराश, सायनस और सूजन कम हो जाती है। यह समस्याएं ब्रोमेलैन एंजाइम से कम हो जाती हैं। 
 
मांसपेशियों में ऐंठन का उपचार
पाइनेपल में उच्च स्तर में पोटैशियम होने से मांसपेशियों की ऐंठन कम होती है। यह खनिज पाचन सुधारता है और गुर्दे का स्वास्थ्य बनाए रखता है। 
 
गर्भावस्था में श्रेष्ठ 
पाइनेपल में फोलिक एसिड होता है जो स्वस्थ गर्भावस्था में मदद करता है। फोलिक एसिड गर्भ के शिशु के दिमाग के स्वास्थ्य के लिए उपयुक्त होता है। 
 
माहवारी में दर्द 
पाइनेपल का रस माहवारी में दर्द कम कर देता है| पाइनेपल में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो कोशिकाओं को होनेवाली हानि कम करता है। यह दिल के दौरे से भी बचाव करता है। 
 
यह सब लाभ हेतु पाइनेपल का रस लें या पाइनेपल खाएं। ध्यान रखें, यह फल एक बार में ज्यादा मात्रा में न खाएं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

चुकंदर : ठंडे मौसम में बनाता है स्वस्थ और सुंदर