Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Coronavirus : कोरोना काल में बढ़ रही हैं सेहत की ये 10 समस्याएं

webdunia
दुनियाभर में कोरोनावायरस कहर बरपा रहा है। इससे पहले ऐसी आपदा किसी ने भी नहीं देखी। लगातार इस महामारी से छुटकारा पाने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। तमाम तरह की सावधानी बरतते हुए लोग अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं। कोरोना ने लोगों के मन में एक डर का माहौल पैदा कर दिया है। कोरोना काल में यदि किसी को सर्दी-खांसी भी हो जाए तो जेहन में सिर्फ कोरोना का नाम ही आता है। वहीं कोरोनावायरस से निपटते-निपटते लोगों को अन्य स्वास्थ्य समस्या भी घेर रही है। आइए जानते हैं कोरोना काल में ऐसी कौन-सी सेहत समस्या है, जो बढ़ रही है?
 
मानसिक स्वास्थ्य पर असर
 
कोरोनावायरस को लेकर लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर भी असर पड़ रहा है। सुबह-शाम कोरोना से संबंधित खबरों को देख-पढ़कर लोग मानसिक रूप से खुद को परेशान महसूस करने लगे हैं। इससे घबराहट भी होती है।
 
नींद न आना
 
कोरोना काल में लगातार मन में चिंताओं और बदलती दिनचर्या की वजह से लोगों को नींद न आने जैसी समस्याओं से भी जूझना पड़ रहा है। ऐसे में इसका सीधा असर उनके स्वास्थ्य पर दिखाई दे रहा है।
 
डिप्रेशन
 
कोरोना काल में लोगों पर नकारात्मकता हावी हो रही है। लगातार अपने भविष्य व नौकरी की चिंता ऐसी तमाम बातें युवाओं को डिप्रेशन की ओर ले जा रही हैं। इसके लिए विशेषज्ञ भी सकारात्मक सोच रखने की सलाह दे रहे हैं, साथ ही मेडिटेशन करने के लिए भी कह रहे हैं ताकि डिप्रेशन से बच सकें।
 
मास्क लगाने से कान में दर्द
 
कोरोना काल में मास्क का इस्तेमाल करना बेहद जरूरी है। मास्क का उपयोग कर आप इस वायरस से बच सकते हैं। लेकिन मास्क के इस्तेमाल के कारण लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्हीं में से एक है कानों में दर्द। लंबे समय तक मास्क का इस्तेमाल करने से कुछ लोगों के कान में दर्द की समस्या आ रही है।
 
त्वचा संबंधी परेशानी
 
कोरोना काल में मास्क एकमात्र उपाय है, जो आपको इस वायरस से दूर रख सकता है। लेकिन इससे लोगों में परेशानियां भी देखी जा रही हैं। मास्क का बहुत देर तक इस्तेमाल करने से स्किन की कई समस्याएं भी पैदा हो रही हैं। गर्मी में मास्क से चेहरे पर मुंहासे, दाने और स्किन की परेशानी बढ़ रही है। घंटों मास्क लगाकर सड़क पर चलने या काम करने से स्किन में नमी, पसीना और गंदगी जमी रह जाती है जिसकी वजह से फेस पर लाल रंग के निशान, पिंपल्स, स्वेलिंग, एक्ने जैसी दिक्कतें होने लगती हैं।
 
सांस लेने संबंधी दिक्कत
 
कोरोनावायरस से बचने के लिए लंबे समय तक मास्क लगाए रखने से लोगों को सांस लेने में दिक्कत, सिर में दर्द, घबराहट, आंखों के सामने अचानक अंधेरा छाना जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
 
हैंड सैनिटाइजर से सेहत समस्या:
 
*हैंड सैनिटाइजर में ट्राइक्लोसान नाम एक केमिकल होता है जिसे हाथ की स्किन सोख लेती है। इसके ज्यादा इस्तेमाल से यह केमिकल आपकी त्वचा से होते हुए आपके रक्त में मिल जाता है। रक्त में मिलने के बाद यह आपकी मांसपेशियों के ऑर्डिनेशन को नुकसान पहुंचाता है।
 
*सैनिटाइजर में खुशबू के लिए फैथलेट्स नामक रसायन का इस्तेमाल किया जाता है। इसकी मात्रा जिन सैनिटाइजर में ज्यादा होती है, वे हमारे लिए हानिकारक होते हैं। इस तरह के अत्यधिक खुशबू वाले सैनिटाइजर लिवर, किडनी, फेफड़े तथा प्रजनन तंत्र को नुकसान पहुंचाते हैं।
 
* सैनिटाइजर में अल्कोहल की मात्रा होने की वजह से ये बच्चों की सेहत पर बुरा असर डाल सकते हैं, खासकर यदि बच्चे इसे नादानी में निगल लें।
 
* कई रिसर्च के अनुसार इसका ज्यादा प्रयोग बच्चों की इम्यूनिटी को भी घटाता है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

नवरात्रि 2020 में कलश स्थापना के सबसे अच्छे चौघड़िया मुहूर्त