Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Winter Health Tips : सर्दी में शहद और काली मिर्च खाने के फायदे

हमें फॉलो करें webdunia
सर्दी के मौसम ठंडी हवा से सर्दी-खांसी होना आम बात है। लेकिन महीने भर तक नाक या छाती में जमा रहना किसी को रास नहीं आता है। ऐसे में अधिक केयर करना पड़ती है। भारतीय मसाले खाने में कितना स्वाद बढ़ाते हैं उससे अधिक सेहत के लिए फायदेमंद भी होते हैं। ठंड में काली मिर्च और शहद का सेवन करने के कई लाभ होते हैं। तो आइए जानते हैं सर्दी में शहद और काली मिर्च को एक साथ खाने के फायदे -

1. सर्दी - खांसी से पाएं छुटकारा - अगर आपको बहुत जल्‍दी और बार-बार सर्दी-जुकाम होता है तो रात को एक चम्मच शहद लें और उसमें आधा चम्मच काली मिर्च मिलाएं। और खाकर सो जाएं।  इससे आपको रात भर में आराम मिल जाएंगा। साथ ही यह कफ के लिए भी बहुत कारगर है। रातभर में और एक दिन में ही आराम मिल जाता है।

2.इम्यूनिटी मजबूत करें - जो लोग बहुत जल्‍दी-जल्‍दी बार-बार बीमार पड़ते हैं उन्हें अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करना जरूरी है। इसके लिए आप सिर्फ काली मिर्च के पानी का सेवन भी कर सकते हैं। एक कढ़ाई में थोड़ा सा घी रखें, गर्म होने के बाद उसमें काली मिर्च डाल दें और पानी मिला दें। इसके बाद उसे तब तक उबालें जब तक वह एक कण नहीं हो जाता है। आप कभी-भी इसका सेवन कर सकते हैं। स्वादानुसार थोड़ी सी शक्कर जरूर डालें। इस पानी का सेवन करने से इम्‍युनिटी मजबूत होगी..गले साफ होंगे, खराश या खुजली नहीं होगी।

3. पेट को दें आराम - अगर आपको ठंड में अपच की समस्या है तो काली मिर्च का सेवन करें। इसका सेवन करने से गैस, एसिडिटी, कब्ज जैसी समस्या से राहत मिलेगी। काली मिर्च में मौजूद अच्छे गुण पेट की समस्या से निजात दिलाने में मदद करते है। इसलिए इसका सेवन कर सकते हैं। फिर आप दूध में डाल सकते है, सब्जी में डाल सकते हैं, काली मिर्च की चाय या सिर्फ पानी भी पी सकते हैं।

4.कोलेस्ट्रॉल को करें नियंत्रित - काली मिर्च में मौजूद तत्व गंभीर बीमारियों में भी राहत देते हैं। इसका सेवन करने से बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है। दिल की बीमारी का खतरा कम होता है। इसके लिए एक गिलास में काली मिर्च का पानी उबाल लें और उसमे शहद डालकर पी जाएं।

5. डिप्रेशन से दिलाएंगे छुटकारा - दरअसल, डिप्रेशन एक आम समस्या हो गई है। युवा से लेकर 55-60 की उम्र तक के व्यक्ति इसकी चपेट में आ रहे हैं। ऐसे में मेडिकेयर के साथ घरेलू उपाय भी जरूरी है। इसमें मौजूद तत्व तनाव को कम करने में मदद करता है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

फेंग शुई के अनुसार कपल में रोमांस के लिए 5 सरल उपाय