डायबिटीज से बचने के लिए बदलें अपनी जीवनशैली

आजकल की भागदौड़भरी जिंदगी में खुद की सेहत का ख्याल रख पाना असंभव-सा लगने लगता है और इसी का असर दिखता है हमारे स्वास्थ पर, क्योंकि बिगड़ती जीवनशैली व खानपान में बदलाव आदि इन्हीं वजहों से छोटी उम्र में ही कई बीमारियां हमें घेर लेती हैं।
 
आज के दौर में जो बीमारी सबसे तेजी से बढ़ रही है, वह है डायबिटीज। इसका शिकार सिर्फ बुजुर्ग ही नहीं, बल्कि युवा भी हो रहे हैं। और अगर एक बार डायबिटीज हमें हो जाए तो यह बीमारी हमें जिंदगीभर हमें परेशान करती है।
 
लेकिन यदि हम खुद पर पहले से ही ध्यान दें और समझदारी के साथ अपनी दिनचर्या में कुछ बदलाव कर लें तो हम इन सभी समस्याओं से दूर रह सकते हैं। और वैसे भी कहा जाता है कि किसी बीमारी का इलाज करने से बेहतर है कि हम उसे आने से ही रोक दें। तो आइए जानते हैं कि कैसे रखें हम खुद का ख्याल जिससे कि हम डायबिटीज का न हो पाएं शिकार।
 
डायबिटीज से बचने के उपाय:-
 
हम सभी नीम के गुणों से वाकिफ हैं। नीम के पत्ते शुगर लेवल को कम करने में काफी मददगार साबित होते हैं। रोज सुबह खाली पेट नीम की कुछ पत्तियों को खाने या पीसकर पानी के साथ लेने से शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।
 
ग्रीन टी को रोज पीना बहुत फायदेमंद होता है। इसे अपने रूटीन में शामिल करें जिससे कि आपको इसकी आदत हो जाए। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है। ग्रीन टी में लो कैलोरी होती है, जो आपका वजन भी कंट्रोल रखने में भी मददगार है।
 
करेले का नाम सुनकर आपने जरूर अपने चेहरे के भाव बदल लिए होंगे लेकिन करेला बहुत गुणकारी होता है। खासकर जो व्यक्ति वजन कम करना चाहते हैं या डायबिटीज को कंट्रोल में रखना चाहते हैं, उन्हें इसका सेवन जरूर करना चाहिए। रोज सुबह खाली पेट करेले का सेवन आपको शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद करेगा।
 
जामुन का इस्तेमाल शुगर को कंट्रोल करने के लिए किया जाता है। यह डायबिटीज से भी लड़ने में मददगार साबित होता है। सिर्फ जामुन ही नहीं, जामुन के पत्ते भी शुगर का इलाज करने में मदद करते हैं।
 
तुलसी के पौधे का महत्व जितना पूजा-पाठ में होता है, उतने ही हमारे स्वास्थ्य में तुलसी की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जैसे तुलसी का पौधा घर में लगाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं रहती, उसी तरह तुलसी के पत्ते का सेवन भी हमारे शरीर से रोगों को दूर भगाने में मदद करता है।
 
तुलसी की पत्त‍ियों में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। इसके अलावा इसमें कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो शुगर लेवल को कंट्रोल करने में सहायक होते हैं। इसलिए रोज सुबह तुलसी की 2 से 3 पत्तियों का सेवन जरूर करना चाहिए। चाहे तो आप तुलसी के पत्ती का रस भी पी सकते हैं।
 
अगर आप चाय पीने के आदी हैं, तो इस आदत को भी बदलने की जरूरत है। यदि आप एक सेहतमंद जिंदगी चाहते हैं तो आपको कुछ छोटे-छोटे बदलाव करने की जरूरत है। कोशिश करें कि कम से कम चाय पीएं। अगर आप चाय पीना ही चाहती हैं, तो दूध की चाय पीने से अच्छा है कि ग्रीन टी को शामिल करें।
 
डायबिटीज से बचने के लिए व्यायाम को करें अपनी दिनचर्या में शामिल
 
दिनभर के बिजी शेड्यूल में हम खुद पर ध्यान ही नहीं दे पाते और इस बात का एहसास तब होता है, जब हमें शारारिक समस्या होने लगे। कहते हैं, व्यायाम खुद को स्वस्थ रखने का बेहतर विकल्प है इसलिए अपनी दिनचर्या में इसे जरूर शामिल करें।
 
योग जहां मन, आत्मा व मस्तिष्क को शांत रखता है वहीं यह आपको एक हेल्दी लाइफ देने में भी बहुत मददगार है। इसलिए योग को जरूर अपनी दिनचर्या में शामिल करें। अगर आप योग की शुरुआत कर रहे हैं तो योग प्रशिक्षण से ही शुरुआत करें। 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अगहन मास शुरू, जानिए कैसे चमकाएं अपनी किस्मत? अवश्य रखें इन 10 बातों का ध्यान