Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Home Isolation New Rules : होम आइसोलेशन के नए नियम क्या हैं?

हमें फॉलो करें webdunia
गुरुवार, 6 जनवरी 2022 (12:14 IST)
समूची दुनिया में कोविड-19 और ओमिक्रोन तेजी से पैर पसार रहा है। देश के कई राज्‍यों में सख्ती से नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। कई लोगों में बिना लक्षण के ही कोविड की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई जा रही है। मुंबई और दिल्‍ली में सबसे अधिक तेजी से मामले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं। वहीं WHO द्वारा चेतावनी भी जारी की गई है ओमिक्रॉन को हल्‍के में नहीं लें। जितना अधिक वह फैलेगा उतनी तेजी से नए वैरिएंट बढ़ सकते हैं। इसलिए अधिक से अधिक सतर्कता बरतें। मुंबई में हर बार की तरह इस बार भी तेजी से केस बढ़ रहे हैं। सुरक्षा के मद्देनजर,केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने हल्‍के लक्षणों या बगैर लक्षणों वाले कोरोना मरीजों को लेकर होम आइसोलेशन की नई गाइडलाइन जारी की है। आइए जानते हैं क्‍या है? -
 
होम आइसोलेशन के नए नियम -

- बुजुर्ग मरीजों को डॉक्टर की सलाह पर होम आइसोलेशन की अनुमति मिलेगी।
- हल्के लक्षण वाले मरीज घर पर ही रहेंगे। उनके लिए प्रॉपर वेंटिलेशन रहना जरूरी है।
- कोरोना मरीजों को ट्रिपल लेयर मास्क पहनने की सलाह दी गई है।
- मरीज को ज्यादा से ज्यादा तरल आहार लेने की सलाह दी गई है।
- एचआईवी संक्रमित, ट्रांसप्लांट कराने वाले और कैंसर के मरीज को डॉक्टर की सलाह पर ही होम आइसोलेशन में रखा जा सकेगा।

webdunia


ये नियम भी ध्‍यान रखें -

- बिना लक्षण वाले और हल्के लक्षण वाले मरीज का ऑक्सीजन सेचुरेशन 93 फीसदी से ज्यादा होगा उन्हें ही होम आइसोलेशन में जाने की इजाजत होगी।

- माइल्ड और असिम्प्टोमटिक मरीजों को जिला स्तर के कंट्रोल रूम के सतत संपर्क में रहना होगा।

- कंट्रोल रूम उन्हें जरूरत पड़ने पर टेस्टिंग और हॉस्पिटल बेड समय पर मुहैया करवा सकेंगे।

- मरीज को स्टेरॉयड लेने की मनाही है। सिटी स्कैन और चेस्ट एक्सरे बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं किए जाएंगे।

ये लक्षण दिखने पर लें डॉक्टर की सलाह -

- यदि सांस लेने में समस्या हो या सांस फूल रही हो।
- सीने में लगातार दबाव महसूस हो।
- थकान और लगातार बदन दर्द हो रहा हो।
- शरीर में ऑक्सीजन रेट 93 फीसदी से कम हो।
- तीन दिन लगातार 100 डिग्री बुखार हो।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कागज के टुकड़ों और सिगरेट की डिब्बियों पर लिखते थे खलील जि‍ब्रान, अपने विचारों से ऐसे हुए महान दार्शनिक