Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

साबूदाना कैसे खाएं जानिए फायदे और नुकसान

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 27 सितम्बर 2022 (17:49 IST)
साबूदाने की खिचड़ी बनती है जिसे व्रत उपवास में खाया जाता है। साबूदाना भारत में कसावा, टैपियोका या टैपिओका की जड़ों से और अफ्रीकी देशों में सैगो पाम नामक पेड़ के तने के गूदे से बनता है। इसमें प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फाइबर, ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेड, जिंक, फॉस्फोरस, पोटैशियम जैसे गुण पाए जाते हैं। साबूदाना कैसे खाएं? साबूदाना खाने के क्या फायदे और क्या नुकसान है? आओ जानते हैं। 

साबूदाना कैसे खाएं | sabudana kaise khaye:
 
- साबूदाना को हमेशा पानी में गलाकर खाया जाता है।
 
- साबूदाना खरीदते वक्त यह देख लें कि वह सूखा है कि नही। 
 
- आपको हमेशा पका हुआ साबूदाना ही खाना चाहिए।
 
- एक बार में आप एक कटोरी साबूदाने का ही सेवन करें। ज्यादा खाना नुकसानदायक है।

- साबूदाने को किसी न किसी के साथ मिलाकर ही खाना चाहिए। जैसे आलू, दूध, चावल या अन्य कोई।
 
- इसके साथ ही साबूदाने को हफ्ते में दो बार से ज्‍यादा न खाएं।
webdunia
sabudana khichadi
साबूदाना खाने के नुकसान | Disadvantages of eating sago
 
- साबूदाना के अधिक सेवन से मस्तिष्क और हृदय को नुकसान पहुंचाता है।
 
- इससे सांस में कठिनाई, सीने में दर्द, उल्टी, रक्त विकार, सिरदर्द और थायराइड होने की संभावना रहती है।
 
- साबूदाने में कार्बोहाइड्रेट की उच्च मात्रा होती है। इसलिए इसका ज्यादा सेवन करने से शरीर में शुगर लेवल बढ़ सकता है। 
 
- यदि आप डायबिटीज के मरीज है तो साबूदाने का सेवन न करें तो ही बेहतर है।
 
- साबूदाने में कैलोरी की मात्रा ज्यादा होने के कारण मोटापे की संभावना बढ़ जाती है।
 
- साबूदाने का अधिक सेवन कब्ज की समस्या पैदा कर सकता है। 
 
- यदि आपको किडनी स्टोन है तो आप साबूदाने का सेवन न करें।
 
- यदि आपको लो बीपी की समस्या है तो भी साबूदाने का सेवन आपकी सेहत बिगाड़ सकता है।
webdunia
साबूदाना खाने के फायदे | Benefits of eating sabudana
 
- एक शोध के अनुसार साबूदाना आपको तरोताजा रखने में मदद करता है, और इसे चावल के साथ प्रयोग किए जाने पर यह शरीर में बढ़ने वाली गर्मी को कम कर देता है।
 
- जब किसी कारण से पेट खराब होने पर दस्त या अतिसार की समस्या होती है, तो ऐसे में बगैर दूध डाले साबूदाने की बनी हुई खीर बेहद असरकारक साबित होती है और तुरंत आराम देती है।
 
- साबूदाने में पाया जाने वाल पोटेशियम रक्त संचार को बेहतर कर, उसे नियंत्रित करता है, जिससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। इसके अलावा यह मांसपेशियों के लिए भी फयदेमंद है।
 
- पेट में किसी भी प्रकार की समस्या होने पर साबूदाना खाना काफी लाभप्रद सिद्ध होता है, और यह पाचनक्रिया को ठीक कर गैस, अपच आदि समस्याओं में भी लाभ देता है।
 
- साबूदाना कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा स्त्रोत है, जो शरीर में तुरंत और आवश्यक उर्जा देने में बेहद सहायक होता है। 
 
- साबूदाने में पाया जाने वाला फोलिक एसिड और विटामिन बी कॉम्प्लेक्स गर्भावस्था के समय गर्भ में पल रहे शिशु के विकास में सहायक होता है।
 
- साबूदाने में कैल्शियम, आयरन, विटामिन-के भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाए रखने और अवश्यक लचीलेपन के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
 
- जिन लोगों में ईटिंग डिसऑर्डर की समस्या होती है उनका वजन आसानी से नहीं बढ़ पाता। ऐसे में साबूदाना एक बेहतर विकलप होता है जो उसका वजन बढ़ाने में सहायक है।
 
- साबूदाना खाने से थकान कम होती है। यह थकान कम कर शरीर में आवश्यक उर्जा के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

भारत के सपनों को साकार करने का संकल्प