मल्टीग्रेन आटे में छिपा है सेहत का खजाना, ऐसे करें घर पर तैयार कि शुद्धता की हो जाए गारंटी

मल्टीग्रेन आटा यानि कई प्रकार के अनाज को पीसकर तैयार किया गया आटा। गेहूं के अलावा इसमें कई अन्य प्रकार के अनाज को मिलाया जाता है जिससे इसकी पौष्टिकता कई गुना ज्यादा हो जाती है। बाजार में ये आटा मेहंगे दामों पर मिलता है इसलिए कई लोग इसे खरीद नहीं पाते हैं लेकिन अगर आप चाहे तो मल्टीग्रेन आटे को घर पर भी तैयार कर सकते हैं, वह भी अपनी सेहत की आवश्यकता के अनुसार, आइए जानते हैं कैसे -
 
 
1 अगर आप मोटापे से परेशान है, तो इस प्रकार से अपने लिए मल्टीग्रेन आटा तैयार करें - 
पांच किलो गेहूं में एक किलो चना, एक किलो जौ, 250 ग्राम अलसी और 50 ग्राम मेथीदाना मिलाकर पिसवाएं।
 
2. अगर आप दुबलापन से निजात चाहते है, तो इस प्रकार से मल्टीग्रेन आटा तैयार करें -
पांच किलो गेहूं में एक किलो चना, एक किलो जौ, 500 ग्राम सोयाबीन, एक किलो चावल का आटा डाल कर पिसवाएं। इस आटे के इस्तेमाल से आपको वजन बढ़ाने में मदद मिलेगी।
 
3. अगर गर्भवती हैं तो इस प्रकार से मल्टीग्रेन आटा तैयार करें -
पांच किलो गेहूं में एक किलो सोयाबीन, 250 ग्राम तिल, डेढ़ किलो चना, 500 ग्राम जौ मिलाकर पिसवाएं। इससे गर्भावस्था के दौरान आपको भरपूर पौष्टिकता मिलेगी।
 
4. अगर आपको कब्ज की शिकायत रहती हो तो इस प्रकार से मल्टीग्रेन आटा तैयार करें -
पांच किलो गेहूं में एक किलो चना, आधा किलो मक्का, एक किलो जौ और 250 ग्राम अलसी पिसवाएं। इससे कब्ज से मुक्ति पाने में आपको मदद मिलेगी।
 
5. जिन्हें डायबिटीज हैं वे इस प्रकार से मल्टीग्रेन आटा तैयार करें -
पांच किलो गेहूं में डेढ़ किलो चना, 500 ग्राम जौ, 50 ग्राम मेथी, 50 ग्राम दालचीनी डालकर पिसवाएं।
 
6. घर में बढ़ते बच्चे हो, तो उनके लिए इस प्रकार से मल्टीग्रेन आटा तैयार करें -
पांच किलो गेहूं में 250 ग्राम सोयाबीन, एक किलो चना और 500 ग्राम जौ मिलाकर पिसवाएं। इससे बच्चों की अच्छी ग्रोथ होगी।
 
साथ ही इन बातों का ध्यान रखें -
-आटे को थोड़ा मोटा पिसवाएं।
-आटे का इस्तेमाल चोकर के साथ करें।
-आटे को एक साथ ज्यादा मात्रा में पिसवाकर न रखें।
-एक बार में एख हफ्ते के लिए आटा पिसवाना काफी है।

ALSO READ: महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद है सोयाबीन, जानिए इसके 5 फायदे

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख राशिफल : सा‍त दिन और आपके सितारे, जानें क्या कहते हैं