Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

हिमाचल चुनाव : कांग्रेस ने 1 लाख नौकरियों, पेंशन योजना की बहाली समेत किए कई वादे

हमें फॉलो करें Priyanka Gandhi Vadra
शुक्रवार, 4 नवंबर 2022 (23:10 IST)
कांगड़ा (हिमाचल प्रदेश)। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी हिमाचल प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में सत्ता में आने पर एक लाख नौकरियां देगी, पुरानी पेंशन योजना को बहाल करेगी और प्रत्‍येक  महिला को 1500 रुपए की वित्तीय सहायता देगी।
 
वाड्रा ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस नशीले पदार्थों की समस्या से भी लड़ेगी, जो युवाओं का भविष्य बर्बाद कर रही है तथा हर विधानसभा क्षेत्र में अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोले जाएंगे। कांग्रेस नेता ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी नीत सरकार के कार्यकाल में हिमाचल प्रदेश कर्ज में डूब गया है और 63000 सरकारी पद खाली पड़े हैं।

छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस द्वारा किए गए कार्यों का हवाला देते हुए, वाड्रा ने कहा कि उनकी पार्टी हिमाचल प्रदेश में भी अपने वादों को पूरा करेगी। उन्होंने कहा, कांग्रेस एक लाख नौकरियों का सृजन करेगी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल यहां बैठे हैं, उन्होंने तीन साल में पांच लाख नौकरियां दी हैं। राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने 1.30 लाख नौकरियां दी हैं।

वाड्रा ने कहा कि आज छत्तीसगढ़ में सबसे कम बेरोजगारी दर है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आई तो हिमाचल प्रदेश के युवाओं को एक लाख नौकरियां देने के फैसले को मंत्रिमंडल की पहली बैठक में अंतिम रूप देगी। उन्होंने कहा, हम यह भी कह रहे हैं कि हम पांच साल में पांच लाख नौकरियां देने की पूरी कोशिश करेंगे। यह हमारी गारंटी है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि वह घर और बाहर काम करने वाली महिलाओं के कंधों पर पड़े बोझ को समझती हैं। उन्होंने कहा, इसीलिए कांग्रेस हर महिला को 1500 रुपए की मासिक वित्तीय सहायता देना चाहती है। यह ‘हर घर लक्ष्मी योजना’ के तहत होगी। वाड्रा ने कहा कि इसके अलावा, कांग्रेस हर विधानसभा क्षेत्र में अंग्रेजी माध्यम के चार स्कूल बनाना चाहती है और मादक पदार्थ की समस्या से लड़ना चाहती है।

वाद्रा ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी लोगों के लिए कुछ नहीं करती और अपने स्वार्थ के लिए काम करती है। उन्होंने दावा किया कि हिमाचल प्रदेश में 63000 सरकारी पद पिछले पांच वर्षों से खाली पड़े हैं और राज्य पर 70000 करोड़ रुपए का कर्ज है।

कांग्रेस नेता ने कहा, जब हम कहते हैं कि हम एक लाख नौकरियां देंगे, तो उनके (भाजपा) मुख्यमंत्री कहते हैं कि यह संभव नहीं है। लेकिन जब वे देश की संपत्ति, सार्वजनिक उपक्रमों को अपने कारोबारी दोस्तों को बेचना चाहते हैं, तो यह संभव है।

वाड्रा ने कहा कि भाजपा का कहना है कि पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने के लिए पैसा नहीं है। उन्होंने कहा, आपने बड़े कारोबारियों का 10 लाख करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया है। आपके पास उसके लिए पैसे थे लेकिन कर्मचारी की पेंशन के लिए पैसे नहीं हैं।

वाड्रा ने कहा कि केंद्र महंगाई जैसे मुद्दों का समाधान करने में विफल रहा है और बदले में लोगों को अधिक करों से परेशान किया है। उन्होंने कहा, जनता महंगाई से आजादी मांग रही है और आप कहते हैं, जीएसटी और ज्यादा टैक्स लीजिए। यहां तक कि सेब की पैकिंग के लिए इस्तेमाल होने वाले कार्टन पर भी जीएसटी बढ़ा दिया गया है।

उन्होंने लोगों से नेक इरादों का मूल्यांकन करने के बाद वोट डालने का आह्वान किया। वाड्रा ने उपस्थित लोगों से पूछा, क्या आप चाहते हैं कि युवा अगले पांच साल तक बेरोजगार रहें, सेना में कोई भर्ती न हो, पुलिस और शिक्षकों की भर्ती में घोटाला हो? हिमाचल प्रदेश में 12 नवंबर को मतदान होगा और मतगणना आठ दिसंबर को होगी।(भाषा)
Edited by : Chetan Gour

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

गुजरात में आप को झटका, इंद्रनील राजगुरु की कांग्रेस में वापसी