जानिए 7 नेचुरल एयर प्युरीफायर पौधों के बारे में, जो हवा को करते हैं शुद्ध

इन दिनों घर से बाहर निकलने पर अधिकांश जगहों पर प्रदूषण महसूस होता है, सांस लेते हुए भी अशुद्ध हवा ही आपके आस-पास होती है। घर से बाहर की स्थिति पर तो आपका अधिक नियंत्रण नहीं हो सकता, लेकिन आप चाहे तो घर के अंदर की हवा को जरूर शुद्ध कर सकते हैं। जी हां, आप घर के अंदर की हवा को शुद्ध कर सकते हैं और इसके लिए आपको घर में ऐसे पौधे लगाने होंगे जो नेचुरल एयर प्यूरीफायर हो।
 
आइए, आपको ऐसे ही 7 पौधों के बारे में बताते हैं, जिन्हें घर में लगाने से आपके घर की हवा शुद्ध हो जाएगी। इन पौधों के इसी गुण के कारण इन्हें नेचुरल एयर प्यूरीफायर प्लांट भी कहा जाता है। 
 
1. स्नेक प्लांट
 
मदर-इन-लॉज-टंग के नाम से मशहूर यह पौधा वायु में मौजूद खतरनाक तत्व फॉरमलडिहाइड को फिल्टर करता है। इस पौधे को ज्यादा धूप की जरूर नहीं होती। साथ ही यह पौधा रात को कार्बन डाइ ऑक्साइड को अवशोषित करके ऑक्सीजन रिलीज करता है। इसे आप अपने बेडरूम में रख सकते है।

 
2. एलोवेरा
 
सूरज की थोड़ी सी रोशनी में भी पनपने वाला यह पौधा, औषधीय गुणों से भरपूर्ण होता है, साथ ही एक अच्छा एयर प्यूरीफायर भी है। यह पौधा वातावरण से फॉरमलडिहाइड और बेंजीन रसायन को दूर करता है। इस आप बेडरूम या किचन की खिड़की के सामने रख सकते है।
3. स्पाइडर प्लांट
 
अगर आपको पौधों की देखभाल करने का ज्यादा समय नहीं मिल पाता तो आप स्पाइडर प्लांट को घर में लगाएं। इसे ज्यादा केयर की जरूरत नहीं होती। यह पौधा जाइलीन, बेंजीन, फॉरमलडिहाइड और कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसी विषैली गैसों से वातावरण को शुद्ध कर देता है।
4. रबर प्लांट्स
 
घर के कमरे या ऑफिस के बंद कमरे में शुद्ध हवा चाहते है तो रबर प्लांट्स लगाना आपके लिए सही होगा। यह पौधा थोड़ी सी धूप में भी जीवित रह सकता है। यह वुडन फर्नीचर से रिलीज होने वाले हानिकारक ऑर्गेनिक कंपाउंड फॉरमलडिहाइड से वातावरण को मुक्त रखने की क्षमता रखता है। इसलिए लकड़ी के सोफे या बेड के नजदीक रबर प्लांट जरूर रखें।
5. पाम ट्री
 
यह भी एक इनडोर प्लांट है जो एयर को प्यूरीफाए करने का काम करता है। घर की हवा को शुद्ध करने के लिए आप घर में ड्वार्फ डेट पाम, बैंबू पाम, एरिका पाम, लेडी पाम या पार्लर पाम ट्री लगा सकते है।

6. तुलसी
 
तुलसी का पौधा 24 में से 20 घंटे सिर्फ ऑक्सीजन छोड़ता है और कार्बन मोनो ऑक्साइड, कार्बन डाई ऑक्साइड व सल्फर डाईऑक्साइड को अच्छे से सोख लेता है।
7. फाइकस बेंजामिना
 
हानिकारक गैसे जैसे फॉरमलडिहाइड, बेंजीन और ट्राइक्लोरोथाइलीन से वातावरण को मुक्त रखने के लिए फाइकस बेंजामिना अहम भूमिका निभाता है। मगर इसे ज्यादा पानी और देखभाल की जरूर होती है। वहीं, पर्याप्त रोशनी में ही यह लंबे समय तक सेट हो सकता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख एक ही पोजिशन में बैठते हैं 2 घंटे से ज्यादा, तो हो सकते हैं ये 5 नुकसान